सुरक्षित नारी- सुरक्षित समाज पर हुई एक दिवसीय कार्यशाला

मुरादाबाद- मुरादाबाद पंचायत सभागार में सुरक्षित नारी सुरक्षित समाज के संबंध में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का शुभारम्भ विधिवत रुप से किया गया। कार्यशाला का संचालन महिलाओं /छात्राओं को पुलिस विभाग द्वारा उपलब्ध करायी गयी सहायता सेवाओं के संबंध में जागरुक करने के उद्देश्य से किया गया। इस अवसर पर पुलिस की सहायता सेवाओं डायल 100, 181, एंटी रोमियों स्क्वायड से सहायता प्राप्त करने के संबंध में भी जागरुक किया।

कार्यशाला में आयुक्त मुरादाबाद राजेश कुमार सिंह ने महिलाओं /छात्राओं को महिलाओं के अधिकारों के संरक्षण हेतु बनाये गये विभिन्न कानूनों के बारे में विस्तार से बताया और जागरुक किया । उन्होंने कहा कि नारी कमजोर नहीं है, आज के दौर में नारी सषक्त हो गयी है।

पुलिस महानिरिक्षक विनोद कुमार मुरादाबाद परिक्षेत्र मुरादाबाद में कार्यशाला में महिलाओं एवं छात्राओं को महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों की रोकथाम के उपायों के बारे में विस्तार से बताया और उन्हें जागरुक किया। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन सदैव महिलाओं एवं छात्राओं की सुरक्षा के लिए तत्परता रहता है। आकस्मिक परिस्थिति में पुलिस की सहायता सेवाओं पर फोन कर मदद लें पुलिस तत्काल आपके पास पहुंचेगी।

जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने महिलाओं एवं छात्राओं को अपने साथ होने वाले अपराधों को अपने परिवार वालों को खुलकर बताने हेतु जागरुक किया। उन्होंने कहा कि कोई समस्या है तो उसे छुपाये नहीं बल्कि निसंकोच बतायें।

समाज सेविका शिखा गुप्ता द्वारा कार्यशाला में उपस्थित महिलाओं एवं छात्राओं को स्वयं को आर्थिक /मानसिक रुप से सशक्त बनाने के संबंध में बताया कि उन्होंने कहा कि नारी किसी भी स्थान पर कमजोर नहीं है। आज हर क्षेत्र में नारी ने बढ चढ़कर भाग लिया।

पंचायत भवन में सुरक्षित नारी सुरक्षित समाज विषय पर आयोजित कार्यषाला में विभिन्न वर्गो के ग्रामीण एवं शहरी छात्राओं ने बढ़ चढकर भाग लिया तथा प्रतिभागिओं के कार्यषाला के रजिस्ट्रेशन हेतु फार्म भरवाये गये।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक नगर, एसपी टैफिक, सी0ओ0 सिविल लाइन, सी0ओ0 एलआईयू एवं अन्य पुलिस प्रषासन के अधिकारी एवं महिला कांस्टेवल तथा छात्रायें उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।