गमगीन माहौल मे मासूम फैज-साजिद के शव सुपुर्दे खाक

सीबीगंज, बरेली। जनपद के थाना सीबीगंज क्षेत्र मे महेशपुरा-मिलक रोठा के बीच पतंग माझा लूटने के चक्कर मे ट्रेन की टक्कर से मरने वाले मासूम फैज अहमद और साजिद के शव का सोमवार को पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया। सुबह से दोपहर तक परिजन पोस्टमार्टम हाउस पर रोते-बिलखते दिखे। पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव गांव लेकर पहुंचे। वहां दोनों को सुपुर्दे खाक किया गया। इस हादसे के बाद लोग पतंग-माझा पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहे हैं। प्रशासन को इसे लेकर सख्ती करनी चाहिए। रविवार की शाम करीब पौने सात बजे महेशपुरा-मिलक रोठा के बीच पतंग माझा लूटने के चलते मिलक रोठा में नाना-नानी के घर रहने वाले 12 वर्षीय फैज अहमद और महेशपुरा का आठ वर्षीय साजिद राज्यरानी एक्सप्रेस की चपेट में आकर मौत के मुंह में समा गए थे। काफी देर के बाद दोनों की पहचान हुई तो परिवार के लोग वहां पहुंचे। वहां घटनास्थल पर भीड़ को देखते हुए सीबीगंज से काफी फोर्स बुलाना पड़ा और आरपीएफ इंस्पेक्टर टीम के साथ पहुंचे। सबसे पहले ट्रैक से भीड़ को हटाया गया। इसके बाद शव पोस्टमार्टम को भेजे गए। रात हो जाने से सोमवार को पुलिस ने फैज अहमद और साजिद के शव का पोस्टमार्टम कराया। सुबह से ही परिवार और रिश्तेदारों की भीड़ पोस्टमार्टम पर पहुंच गई। दोपहर में दोनों के शवों का पोस्टमार्टम कराया गया। इसके बाद परिवार वाले दोनों के शव लेकर घर पहुंचे। जिसने भी हादसे के बारे में सुना वही उन मासूमों के घर पहुंच गया। हर आंख नम थी। घटना के बाद परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल था। महेशपुरा निवासी ठेकेदार मंझले का बेटा साजिद तीसरे नंबर का बेटा था। मंझले की पत्नी दहाड़े मार रही थी। फैज पुत्र फैयाज अहमद मूलरूप से कैंट के परसौना गांव का था। लेकिन कई साल से नाना अनवर के यहां मिलक रोठा मे रहता था। जब फैज का शव उसके पैतृक गांव परसौना पहुंचा तो वहां बड़ी संख्या में लोग जुट गए। मोहल्ला चीत्कारों से गूंज उठा। दोपहर बाद दोनों के शव सुपुर्दे खाक कर दिए गए। मासूम फैज और साजिद के जनाजे में बड़ी संख्या में लोग पहुंचे।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।