प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ त्यागपत्र देने के बाद फर्माशिष्ट ने त्याग किया भोजन

मार्टिनगंज/ आजमगढ़- तहसील मुख्यालय पर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर कार्यरत फर्मासिस्ट सत्येंद्र शुक्ला द्वारा शनिवार को जहां भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने पर कर्मचारियों अधिकारियों द्वारा उनका उत्पीड़न किए जाने का आरोप लगाते हुए पद से त्यागपत्र देने की घोषणा की वही भोजन भी त्याग कर नींबू पानी पी कर 24 घंटे से रहे हैं उनका स्वास्थ्य परीक्षण प्रभारी चिकित्साधिकारी अधिकारी द्वारा रविवार को सुबह 10:00 बजे किया गया जिसमें स्वास्थ्य समान्य हैं ।तहसील मुख्यालय पर तैनात फार्मासिस्ट सतेन्द्र शुक्ला.का आरोप है कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर खुलेआम भ्रष्टाचार व्याप्त है।प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के अन्तर्गत ग्राम पंचायत में 2013/14में आशाओं की नियुक्ति की गई लेकिन तत्कालीन प्रभारी चिकित्साधिकारी द्वारा 2017में नियुक्ति पत्र दिया गया जिसमें खुलेआम भ्रष्टाचार हुआ है जिसमें नियमों को ताक पर रखकर आशाओं की नियुक्ति की गई । दवा की खरीद-फरोख्त में भी अनियमितता बरती गई है।प्रसूता महिलाओं के प्रसव के दौरान इलाज में काफी पैसा लिया जाता है । कर्मचारियों के आवास आवंटन में स्वास्थ्य केन्द्र अनियमितता बरती गई हैं । और तरह तरह के स्वास्थ्य केंद्र ब्याप्त भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए । फर्माशिष्ट पद से इस्तीफा देने के बाद भोजन भी 24 घंटे त्याग दिया उन्होंने मांग की है कि सभी बिंदुओं पर जांच उच्चस्तरीय कराई जाए ।

रिपोर्टर-:राकेश वर्मा सदर आजमगढ़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।