सड़कों में गड्ढे नहीं,गड्ढों में सड़क कहिए जनाब

अमेठी- योगी सरकार के बनते ही प्रदेश में सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का अभियान चला। सौ दिन के कार्यकाल में योगी सरकार ने सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का खूब ढिढोरा पीटा। कहीं यह दावे पूरे हुए और कहीं कागजों में सड़कों को गड्ढा मुक्त कर दिया गया। अमेठी जनपद भी अधिकारियों के इस खेल से अछूता नहीं रहा । बहादुरपुर ब्लाक क्षेत्र के तेन्दुआ चौराहे से सराय महेशा लिंक रोड फरीदपुर परवर-उड़वा होते हुए अलाईपुर चौराहे तक मार्ग जर्जर हालत में है। सड़कों पर चलना सीधे मौत को दावत देना है। हालात यह है कि सड़कों के यह गड्ढे अब लोगों की जान लेने लगे है। दूसरी ओर, जिला प्रशासन व पीडब्ल्यूडी चैन की नींद सोए है तथा दुर्घटना में हो रही मौत पर मकूदर्शक बने हुए है। तेन्दुआ-अलाईपुर मार्ग आवागमन का महत्वपूर्ण मार्ग है। इस रोड की हालत दिनों-दिन खराब होती जा रही है। उड़वा से नवावाँ तक तक रोड की हालत यह है कि वह अनेक स्थानों पर गड्ढों में तब्दील हो गई है। ग्रामसभा उड़वा का यह मुख्य मार्ग है जो राजमार्ग रायबरेली-सुल्तानपुर व रायबरेली-फैजाबाद से संपर्क में जोड़ता है। इन सड़कों पर चलना मुश्किल हो गया है। रोज गड्ढों से दुर्घटना के कारण लोग जान गंवा रहे है, लेकिन अधिकारी अभी भी चैन की नींद सो रहे हैं। इसके बावजूद भी संबंधित अधिकारी आंखें मूंदे बैठे हैं।
– सन्तप्रसाद मौर्य संवाददाता अमेठी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।