स्थानीय प्रशासन की मिली भगत से प्रतिदिन होती है शराब की बड़ी – बड़ी खेप की डिलीवरी

बिहार – वैशाली जिला के बिदूपुर और राघोपुर अबैध शराब कारोबारियों का नंबर वन स्थान माना जा रहा है। स्थानीय प्रशासन की मिलीभगत से प्रतिदिन होती है शराब की बड़ी बड़ी खेप डिलीवरी। पूर्व में भी जितने शराब की खेप बिदूपुर थाने में पकड़ाई सिर्फ वरिये अधिकारियों की सूचना पर बिहार के मुख्य मंत्री नीतीश कुमार की महत्वकांक्षी योजनाओं में शुमार शराबबंदी को सफल बनाने के लिए 1 सूत्री कार्यक्रम में बिदूपुर पुलिस दिन-रात कड़ी मेहनत के साथ लगी रहती है। यहां हर दो- तीन दिन पर शराब की गाड़ियां पुलिस द्वारा पकड़ी जाती है और रुपया लेकर शराब के साथ कारोबारियों को भी मुक्त कर दिया जाता है। और तो और थाना प्रभारी शराब के साथ परिसर में अपनी फोटो भी खिंचवाते हैं पेपर में भी छपते हैं। लेकिन शराब की कमी वैशाली में कहीं नहीं दिख रही है। काफी संख्या में शराब की खाली बोतलें सड़क किनारे फेंके देखने को मिलते हैं। यहां तक की सरकारी कार्यालय के कैंपस में दिखाई दे रही हैं। जिसका जीता जागता उदाहरण यह है कि हर दूसरे दिन कोई-न-कोई थाना प्रभारी जप्त शराब के साथ अपनी फोटो पेपरों में छपवाते हैं।
मिली सूचना के मुताबिक बताया जाता है कि बिदूपुर थाने की पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर गोपालपुर घाट से छापेमारी कर एक सूमो गाड़ी पर लदी भारी मात्रा में केन बीयर के साथ दो कारोबारियों को गिरफ्तार किया है। जिसमें बिदूपुर पुलिस कस्टडी में आए दो कारोबारी में से एक फरार हो गए। फरार कारोबारी अमेर गांव का किरण कुमार बताया जा रहा है। जबकि एक कारोबारी पुलिस कस्टडी में बंद है
बताया जाता है कि रविवार छुट्टी के दिन होने को लेकर काफी संख्या में पुलिसकर्मी एवं चौकीदार थाने पर ही उपस्थिति दर्ज कराते हैं। काफी संख्या में पुलिसकर्मी और चौकीदार थेने पर तैनात होने के बावजूद भी शराब कारोबारी पुलिस के चंगुल से भाग निकला।

-नसीम रब्बानी ,पटना/ बिहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।