सीएम ने जनता को समर्पित किया महादेव पुल और आदिनाथ चौक, नाथ कॉरिडोर की रखी आधारशिला

बरेली। जनसभा से पहले मुख्यमंत्री योगी ने मंच पर बटन दबाकर 328.43 करोड़ रुपये की 64 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि बरेली पहले जाना जाता था अपने झुमकों के लिए लेकिन अब फ्लाईओवर और आईटी पार्क के लिए बरेली जाना जाएगा। बरेली की एक नई पहचान बन रही है। परियोजओं में 111 करोड़ से निर्मित महादेव पुल, सीबीगंज में आईटी पार्क का शिलान्यास, 44 करोड़ से नाथ कॉरिडोर की 11 सड़कों, 18 करोड़ से निर्माणाधीन साफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क और आदिनाथ चौक जनता को समर्पित किया। जनसभा के बाद मुख्यमंत्री योगी जीआईसी ऑडिटोरियम से पीएम सूरज राष्ट्रीय पोर्टल की लॉन्चिंग कार्यक्रम में वर्चुअली तौर पर शामिल हुए। यहां से नवनिर्मित महादेव पुल से होते हुए आदिनाथ चौक पहुंचे। वहां डमरू चौराहा का उद्घाटन किया। इसके बाद त्रिशूल एयरबेस से लखनऊ रवाना के लिए रवाना हो गए। मुख्यमंत्री की सुरक्षा में चार एएसपी, छह सीओ समेत 1200 पुलिसवालों की ड्यूटी शहर के विभिन्न स्थानों पर लगाई गई है। पीएसी और पैरामिलिट्री फोर्स के जवान भी तैनात किए गए। इस दौरान पीडब्यूडी मंत्री जितिन प्रसाद, वन एवं पर्यावरण मंत्री डा. अरुण कुमार, क्षेत्रीय अध्यक्ष दुर्विजय शाक्य, सांसद संतोष गंगवार, सांसद धर्मेंद्र कश्यप, मेयर उमेश गौतम, जिला पंचायत अध्यक्ष रश्मि पटेल, विधायक राघवेंद्र शर्मा, संजीव अग्रवाल, एमपी आर्या, डा. श्याम बिहारी लाल, डा. डीसी वर्मा, बरेली जिलाध्यक्ष पवन शर्मा, आंवला जिलाध्यक्ष आदेश प्रताप सिंह, महानगर अध्यक्ष अधीर सक्सेना समेत कई जनप्रतिनिधि, एडीजी, कमिश्नर, डीएम, आईजी और एसएसपी उपस्थित थे। वही मुख्यमंत्री ने बुधवार को नाथ कॉरिडोर की भी आधारशिला रखी। नाथ कॉरिडोर के तहत अलखनाथ, वनखंडीनाथ, पशुपतिनाथ, त्रिवटीनाथ, धोपेश्वरनाथ, तपेश्वरनाथ व मढ़ीनाथ मंदिर के रास्ते को आपस मे जोड़ा जाएगा। सड़कों का चौड़ीकरण व सुंदरीकरण होगा। लोकार्पण के बाद 105 करोड़ की लागत से बने 1,306 मीटर लंबे महादेव पुल पर वाहनों का आवागमन शुरू हो गया है। इस पुल पर 30 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार तय की गई है। इसका बोर्ड भी लगा दिया गया है। इस पुल के शुरू होने से जाम की समस्या से निजात मिलने की उम्मीद है।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।