संदिग्धावस्था में महिला की मृत्यु पुलिस जांच में की जा रही लापरवाही

*किसान मंच की मासिक बैठक में ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा ~

सीतापुर- सीतापुर के बिसवां में किसान मंच की मासिक बैठक बिसवां कार्यालय पर संपन्न हुई!उपस्थित संगठन पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय सचिव/प्रदेश प्रभारी शिव प्रकाश सिंह ने कहा कि यह कैसी विडम्बना है जब रक्षक की भूमिका में कार्यरत पुलिस विभाग किसान मंच महिला प्रकोष्ठ जिला सचिव बिट्टो मौर्या की भानजी सरिता मौर्या पत्नी संजय मौर्या निवासी ग्राम मथना थाना इमलिया सुल्तानपुर की मृत्यु रक्त विषाक्ता के कारण संदिग्धावस्था हुई पाई गई!सरिता मौर्या के भाई रामनरेश मौर्या निवासी खूबपुर थाना रामकोट सीतापुर आई जी आर एस संख्या ~ 40015423054822 द्वारा सूचित किया गया!परंतु थाना इमलिया सुल्तानपुर पुलिस पीड़ित परिवार की बात न सुनकर हीलाहवाली कर रही है!न्याय न मिलने की स्थिति में किसान मंच थाना इमलिया सुल्तानपुर के बाहर बैठकर धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होगा और जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी!महिला प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष अल्पना सिंह ने कहा कि सीतापुर शहर से सटे खगेशियामऊ,सीतापुर लखीमपुर रोड ग्रा० पं० टिड़वा चिलौला व ग्रा०पं०रस्यौरा में भू माफियाओं द्वारा ग्राम समाज की जमीन पर कब्जा कर खुलेआम प्लाटिंग की जा रही है,और शिकायतों के बावजूद जिला प्रशासन मौन है! जिला अध्यक्ष मतीन खां ने समूचे जनपद में विद्युत विभाग द्वारा शासनादेश में घोषित समयावधि के विरुद्ध की जा आपूर्ति का मुद्दा उठाया! जिला प्रभारी अंबुज श्रीवास्तव ने बिसवां में जलभराव के साथ फैल रही बीमारियों के प्रति जिला प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई न करने की बात कही! जिला प्रवक्ता शराफ़त खान ने जनपद में चारों तरफ खुलेआम घूम रहे आवारा पशुओं के कारण किसानों की फसल नुकसान के साथ हो रही आकस्मिक दुर्घटनाओं से आए दिन हो रही मौतों की तरफ ध्यान देकर प्रभावी कार्रवाई की मांग की!बैठक में संजीव दिक्षित,संगठन मंत्री डा० इस्लामुद्दीन, विधिक सलाहकार पंकज प्रकाश मिश्रा,जिला सचिव मासूम अली,सफीक,सफाउल्ला, राजेन्द्र प्रसाद वर्मा, इकरार भाई,करन मिश्रा, सफीक सहित किसान साथी उपस्थित थे।

– सीतापुर से रामकिशोर अवस्थी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।