श्रीराम अपने धाम में विराजमान हो रहे हैं वहीं अब कल्कि धाम आस्था के केंद्र के रूप में सामने आएगा – पीएम मोदी

*कौन हैं बूढ़े बाबा, जिनके नाम पर पीएम मोदी ने सम्भल की सभा में लगाया जयकारा

*अमरोहा का ढोलक,मुरादाबाद का पीतल आइटम विश्व में प्रसिद्ध – योगी

सम्भल – प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज उत्तरप्रदेश के सम्भल में श्री कल्कि धाम मंदिर का शिलान्यास किया इस दौरान उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे जनपद के गांव ऐंचोड़ा कंबोह सम्भल तहसील का हिस्सा है। बहुत लंबे समय के बाद लगभग 46 वर्ष के बाद प्रधानमंत्री का दौरा हुआ है इससे पहले कांग्रेस की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने अपने प्रत्याशी चुनाव में खड़े चुनावी जनसभा की थी। इतने लंबे समय के बाद आज 19 फरवरी 2024 को पीएम नरेंद्र मोदी ने सम्भल में कल्कि धाम मंदिर का शिलान्यास किया। पीएम मोदी ने कहा कि हमें अपनी पहचान पर गर्व हो रहा है। कल्कि धाम को उन्होंने आस्था का केंद्र बनने की बात कही। उन्होंने कहा कि मंदिर में 10 रूपों में भगवान विराजमान होंगे। कल्कि धाम मंदिर का शिलान्यास सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने किया। इस दौरान उन्होंने 500 सालों के इंतजार के बाद अयोध्या में भगवान श्रीराम का पदार्पण हुआ है। प्रभु श्रीराम अपने धाम में विराजमान हो रहे हैं। वहीं, अब कल्कि धाम आस्था के केंद्र के रूप में सामने आएगा। इस कार्यक्रम की शुरुआत उन्होंने कैलादेवी के बूढ़े बाबा के जयकारे से की। आखिर पीएम मोदी ने यहां उनका जिक्र क्यों किया? आइए, हम बूढ़े बाबा के बारे में आपको बताते हैं। सारंगपुर गांव में है बूढ़े बाबा मंदिर सम्भल के असमोली और रजपुरा क्षेत्र के सिरसा और कैलादेवी क्षेत्र के गांव सारंगपुर बूढ़े बाबा का मंदिर स्थित है। इस मंदिर पर हर साल श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ती है। वहां मेला लगता है। माना जाता है कि बूढ़े बाबा के मंदिर पर जात लगाने से चर्म रोगों से मुक्ति मिलती है। इसी मान्यता के आधार पर जिले में बूढ़े बाबा के मंदिरों पर विशेष पूजा- अर्चना होती है। जनवरी माह में यहां पर खूब भीड़ उमड़ती है। महिला और पुरूषों के साथ- साथ बच्चे भी मंदिर पर पहुंचकर यहां स्थित तालाब में स्नान करते हैं मान्यता है कि स्नान के बाद घर से लेकर पहुंचे सात प्रकार के अनाज को परिक्रमा कर चढ़ाया जाता है। साथ ही, प्रसाद भी चढ़ाने की परंपरा है। उसके बाद विशेष पूजा- अर्चना की जाती है । बूढ़े बाबा के मंदिरों पर पूजा और स्नान से लोगों को चर्म रोग से मुक्ति मिलती है।पीएम मोदी ने इसलिए किया जिक्र ।
पीएम नरेंद्र मोदी ने बूढ़े बाबा का जिक्र कर इस मामले को लेकर लोगों की उत्सुकता बढ़ा दी। साथ ही, पीएम मोदी ने कल्कि धाम को लेकर आचार्य प्रमोद कृष्णम की लंबी लड़ाई का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों से आचार्य कृष्णम को लंबी लड़ाई लड़नी पड़ी। आज उनकी लड़ाई सार्थक रूप ले रहा है। उन्होंने कहा कि देश में आज राष्ट्ररूपी मंदिर का नवनिर्माण हो रहा है देश में आधुनिक ट्रेनें चल रही है। देश आज बुलेट ट्रेन चलाने की तैयारी कर रहा है। विकास के रास्ते पर देश चल रहा है। भारत आज विश्व के सामने उदाहरण पेश कर रहा है। ऐसे समय में हम सांस्कृतिक पुनर्जागरण के दौर को भी देख रहे हैं।
सम्भल में हिंदू तीर्थ कल्कि धाम के शिलान्यास समारोह में पीएम मोदी ने कहा कि आज संतों की भक्ति और जनता की भावना से एक और पवित्र स्थान की आधारशिला रखी जा रही है। आचार्यों और संतों की उपस्थिति में भव्य कल्कि धाम की आधारशिला रखने का सौभाग्य मिला। मुझे विश्वास है कि कल्कि धाम भारतीय आस्था का एक और महान केंद्र बनकर उभरेगा। पीएम मोदी ने आगे कहा कि आज छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती भी है, इसलिए यह दिन पवित्र और अधिक प्रेरणादायक हो जाता है। इस अवसर पर मैं छत्रपति शिवाजी महाराज के चरणों में आदरपूर्वक नमन करें और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करें।
सम्भल में बोलने की शुरुआत करते उससे पहले कहा कि अबू धाबी में पहले विराट मंदिर के लोकार्पण के साक्षी भी हम बने अब सम्भल में हम जिस अवसर के साक्षी बना रहे हैं यह भारत के सांस्कृतिक नवजागरण का एक और अद्भुत क्षण है। पिछले महीने ही 22 जनवरी को देश में अयोध्या में 500 साल के इंतजार को पूरा होते देखा है। इसके बाद अबू धाबी में पहले विराट मंदिर के लोकार्पण के साक्षी भी हम बने।पीएम मोदी ने कसा तंज
उन्होंने कहा कि आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि हर किसी के पास कुछ देने को होता है लेकिन उनके पास नहीं है। इस पर पीएम ने कहा कि प्रमोद जी अच्छा हुआ कुछ दिया नहीं वरना जमाना ऐसा बदल गया है कि अगर आज के युग में सुदामा श्री कृष्ण को एक पोटली में चावल देते वीडियो निकल जाती तो। इसके बाद कुछ लोग सुप्रीम कोर्ट में पीआईएल दायर कर देते और जजमेंट आता कि भगवान कृष्ण को भ्रष्टाचार में कुछ दिया गया और भगवान कृष्ण भ्रष्टाचार कर रहे थे। ये ऐसा मंदिर होगा, जिसमें 10 गर्भगृह होंगे प्रधानमंत्री ने कहा कि कई एकड़ में फैला ये विशाल धाम कई मायनों में विशिष्ट होने वाला है आने वाले समय में। ये ऐसा मंदिर होगा, जिसमें 10 गर्भगृह होंगे और भगवान के सभी 10 अवतारों को विराजमान किया जाएगा। 10 अवतारों के माध्यम से हमारे शास्त्रों ने केवल मनुष्य ही नहीं बल्कि अलग-अलग स्वरूप में ईश्वर या अवतार को प्रस्तुत किया। हमने हर जीवन में ईश्वर की ही चेतना के दर्शन किए। उन्होंने कहा कि इस पवित्र आयोजन का माध्यम भगवान ने उन्हें बनाया है।और कुछ ऐसे कार्य हैं जो मेरे लिए छोड़ दिए गए हैं मैं ही पूरा करूंगा ।
बोले सीएम योगी कि जो कल तक नामुमकिन था, वो आज हो रहा है एक नया भारत है कल्कि धाम शिलान्यास के बाद मंदिर बनेगा इस पावन पवित्र स्थान पर सभी शस्त्र और वेदों में भी लिखा है भगवान श्री कृष्ण का अवतार होगा कहते हैं कि परित्राणाय साधूनां विनाशाय च दुष्कृताम्।धर्मसं स्थापनार्थाय संभावनामि युगे युगे ॥ साधु पुरुषों का उद्धार करने के लिए, पाप कर्म करने वालों का विनाश करने के लिए और धर्म की अच्छी तरह से स्थापना करने के लिए मैं युग-युग में प्रकट होते हैं ।भगवान श्री कृष्णा ।सीएम ने कहा कि अबूधाबी में हिन्दू मंदिर बनकर तैयार है ।मुख्यमंत्री ने कहा कि सीमाएं सुरक्षित है तो सब सुरक्षित महसूस करते है। और सरकार की जन कल्याणकारी योजनाएं जन-जन तक पहुंच रही है । सम्भल की कृषि और हैंडीक्राफ्ट को बढ़ावा दिया गया । मुरादाबाद का पीतल उत्पाद, अमरोहा की ढोलक आज आगे बढ़ रहे हैं इस नये भारत में युवा की आजीविका की व्यवस्था और बहन बेटियों की सुरक्षा हमारा कर्तव्य है ।

आचार्य प्रमोद कृष्णम पूर्व कांग्रेस नेता ,
न भूतो न भविष्यति, मोदी जैसा प्रधानमंत्री कोई नहीं,कल्कि धाम शिलान्यास के बाद बोले आचार्य प्रमोद कृष्णम पूर्व कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर सराहना की है । उन्होंने कहा कि पीएम मोदी जैसा न कोई अतीत में प्रधानमंत्री हुआ है न भविष्य में होगा ।जब मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को निमंत्रण देने गया था तो असमंजस में था की आएंगे कि नहीं आएंगे क्योंकि मुझे कोई स्पष्टीकरण नहीं मिला था ।लेकिन मुझे विश्वास था ।जैसे हमारे सबके भगवान श्री राम का शबरी को विश्वास और इंतजार था कि मेरे प्रभु राम आएंगे इसी तरह मुझे भी विश्वास था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की
कल्कि धाम जरूर आएंगे ।और आज सब संतो के आशीर्वाद से तमाम लाखों भक्तों की प्रार्थना से प्रधानमंत्री ने निमंत्रण को स्वीकार किया ।और प्रधानमंत्री के ट्वीट आने पर मुझे लगा कि प्रधानमंत्री कार्यक्रम में आएंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।