वैदिक गो संरक्षण संवर्धन सेवा सदन गौशाला का योग गुरु रामदेव ने किया लोकार्पण

आज़मगढ़- जिले में आये योग गुरु बाबा रामदेव ने एक तरफ जहाँ पूरे जनपद को योगमय बना दिया और उनके योग प्रशिक्षण के माघ्यम से हजारों लोग स्वास्थ लाभ ले रहे है। बाबा अपनी सभाओं में स्वदेशी के नारे से जहा सबको जागरूक कर रहे हैं तो वही गौ सेवा के भी महत्व पर मुखर हैं। गुरुवार को बाबा रामदेव ने शहर के बलराम स्थित मातृ वैदिक गो संरक्षण संवर्धन सेवा सदन गौशाला का लोकार्पण किया। इस गौशाला की ख़ास बात यह है की यहाँ लगभग विलुप्त होने के कगार पर पंहुची देशी और गिर नस्ल की गाए उपलब्ध हैं। इस अवसर पर बाबा रामदेव यहाँ की गायों और उनकी सेवा की व्यवस्था से प्रसन्न नजर आये और उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री मोदी का किसानो की आय दोगुनी करने का सपना केवल कृषि से नहीं परगऊ पालन और डेयरी से ही संभव है। गौ माता को बचाने के अभियान के तहत लगभग विलुप्त हो चुकी गिर गाय के गौशाला का शिलान्यास और फीता काट कर उद्धघाटन करने के दौरान बाबा रामदेव ने कहा की भारतदेश से विलुप्त हो चुकी गिर गाय को बचाए रखने और उसके लाभ अनेक हैं , यह पूरी तरह से भारतीय और स्वदेशी नस्ल है। गठिया,शुगर,कोलेस्ट्रॉल जैसे रोग के जड़ से नष्ट काने वाले गिर गए के दूध को उन्होंने चमत्कारी बताया और किसान के लिए काफी फायदे मंद बताया। इस मौके पर बाबा रामदेव ने कहा कि किसान सिर्फखेती पे डिपेंड न रहे उसके साथ गौ पालन भी करे और 20 से 50लीटर दूध देने वाली स्वदेशी गाय अपनाए और विदेशी नस्ल से छुटकारा पाए। गिर नस्ल, साहीवाल, थायपर, राठी, सिंघी ये गएँ 25 से 50 किलो दूध दे सकती है और दे रही है तो ये विदेशी नस्ल की गाय क्यो और एक गाय के दूध के अलावा उसके मूत्र का औषधीय उपयोग भी हो सकता है। इस प्रकार से 2 एक लाख से 5 लाख की खेती 1 एकड़ में की जा सकती है और गौ पालन आज भी देश की अर्थ व्यवस्था की रीढ़ की हड्डी है। और किसानों की आय दुगना करनेकी सोच जो प्रधान मंत्रीजी की सोच है उसको सिर्फ खेती सेही नही वो डेरी पालन से होगा। स्थानीय गोशाला के बारे में उन्होंने कहाकी इस तरह की व्यवस्था और गिर गायो का संकलन जो यहां है पूरे भारत ने कम जगहों पर है। इस अवसर पर गौशाला के संचालक आलोक जायसवाल ने बताया की गिर गाय की प्रजाति गुजरात मे पायी जाती हैऔर उत्तर प्रदेश में नाम मात्र की कही कही पायी जाती है इसकी सबसे बड़ी खासियत इसके दूध और मूत्र में स्वर्ण पाया जाता है जो वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित है।

रिपोर्टर-:राकेश वर्मा सदर आजमगढ़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।