विवाहिता की पथरी के बहाने निकलवा दी किडनी, पति समेत छह पर मुकदमा

बरेली। जनपद के थाना शीशगढ़ क्षेत्र मे एक विवाहिता ने ससुराल पक्ष पर पथरी के बहाने अस्पताल से साठगांठ कर किडनी निकलवाने का आरोप लगाया है। आरोप है कि दहेज मे तीन लाख रुपये न देने पर बच्चा छीनकर घर से निकाल दिया। एसएसपी के आदेश पर थाना पुलिस ने ससुराल पक्ष के छह लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। जनपद पीलीभीत के जहानाबाद निवासी पूजा ने बताया कि उसकी शादी 19 जून 2017 को शीशगढ़ के गांव बल्ली निवासी हरीश के साथ हुई थी। शादी के बाद पति हरीश, ससुर नत्थूलाल, सास फूला देवी, जेठ प्रेमपाल, देवर अवधेश उर्फ अनिल कम दहेज लाने का ताने देकर मारपीट करने लगे। कुछ समय बाद उसे बेटी हुई लेकिन इसके बाद भी ससुराल वाले नही बदले। दहेज मे तीन लाख रुपये मांगे। वर्ष 2018 में उसके पेट मे दर्द हुआ। आरोप है कि पति हरीश ने उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया और वहां गुर्दे मे पथरी का ऑपरेशन कराया गया। आरोप है कि आपरेशन के आठ दिन बाद ड्रेसिंग कराने के बहाने उसे अस्पताल लाया गया। यहां डॉ से साठगांठ करके उसकी किडनी निकलवा दी और उसे इसकी कोई जानकारी नही दी गई। बाद मे उसे इसका पता चला। 27 जनवरी 2024 को ससुराल वालों ने उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया। इसकी शिकायत उसने शीशगढ़ पुलिस से की। पुलिस ने समझा-बुझाकर उसे ससुराल भेज दिया। इसके बाद ससुराल वालों ने 16 अप्रैल को फिर उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया। 21 अप्रैल को हरीश ने अपनी बहन की शादी के बहाने से बुलाया और बच्ची को छीन लिया। एसएसपी के आदेश पर पति हरीश बाबू, ससुर नत्थूलाल, सास फूला देवी, देवर प्रेमपाल व अवधेश के खिलाफ महिला थाना पुलिस ने दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज किया है।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।