लोक शिक्षा प्रेरको के हक और अधिकार की लड़ाई अंतिम सांस तक लड़कर हासिल करना हमारी जिम्मेदारी:श्री प्रकाश यादव

वाराणसी/जंसा -साक्षर भारत योजनान्तर्गत ग्राम पंचायतो में कार्यरत शिक्षा प्रेरको के 45 महीने के बकाये मानदेय व नियमितीकरण को लेकर अंतिम दम तक लड़ाई लड़ी जायेगी।उक्त बाते रामेश्वर में आयोजित”आदर्श लोक शिक्षा प्रेरक वेलफेयर एसोसिएशन वाराणसी “इकाई की बैठक को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष श्री प्रकाश यादव ने अपने सम्बोधन में व्यक्त किया।श्री यादव ने यह भी कहा उत्तर प्रदेश के लाखो शिक्षा प्रेरक इको पार्क लखनऊ में 14 मई को 7 सूत्रीय मांग को लेकर विशाल धरना प्रदर्शन सहित विधान सभा भवन का घेराव भी करेंगे।जिला विधि सलाहकार जितेंद्र सिंह ने कहा कि मात्र दो हजार रूपये पर काम करने वाले शिक्षा प्रेरक अपना हक व अधिकार जानते हैं और सरकार से लडकर ही दम लेंगे। उपाध्यक्ष उदल प्रसाद मौर्य ने कहा कि सरकार प्रेरको के हित में शीघ्र निर्णय नही लेती तो आगामी 2019 के चुनाव में सबक विरोध कर दिखाया जायेगा।वीरेंद्र कुमार पाल ने कहा हम प्रेरक भींख नही मांग रहे हैं।समाज को शिक्षित करने का कार्य कर लाखो निरक्षरों को साक्षर किया गया।आज प्रेरक बदहाली की जिंदगी जीने को मजबूर है।बैठक में वाराणसी जनपद के 8 ब्लाको से सैकड़ो शिक्षा प्रेरक शामिल रहे।प्रमुख रूप से नन्दलाल,जितेंद्र सिंह,सन्तराम,किरन उपाध्याय,सुशीला,मन्जू देवी,योगेन्द्र,रविशंकर,संतराज पटेल,अश्वनी कुमार,शिवशंकर,वीरेंद्र प्रताप सिंह,कृपाशंकर व अभिषेक कुमार सहित कई शिक्षा प्रेरको ने भाग लेकर विचार व्यक्त किया। सञ्चालन ब्लाक अध्यक्ष सेवापुरी केएल पथिक ने किया।

संवाददाता:-एस के श्रीवास्तव विकास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।