रेंज के उन्नीस प्रकरणों में वांछित अट्ठावन हजार का ईनामी अपराधी हथियारों के जखीरों के साथ गिरफ्तार

राजस्थान/बाड़मेर –  आमआदमी की सुरक्षा में पुलिस कोई कोताही नहीं बरतें अपराधी चाहे कितना भी बड़ा हो उसे बख्शा नहीं जाएगा। लगभग दो दर्जन मुक़दमों में फरार मुल्ज़िम को पकड़ने के लिए दो ढाई दशक बाद आज सफलता मिली है ओर इस मिशन के सभी पुलिस कर्मियों का में बहुत बहुत बधाई देता हूँ।

इस सम्बन्ध में ज्यादा जानकारी देते हुए विकास कुमार महानिरीक्षक पुलिस, जोधपुर रेंज ने बताया कि रेंज के कुल उन्नीस प्रकरणों में हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, डकैती, चोरी, नकबजनी, अपहरण, व्यपहरण, गंभीर मारपीट, आर्म्स एक्ट, राजकार्य में बाधा एवं पैरोल से फरार वांछित ईनामी अपराधी को रेंज स्तरीय साईक्लोनोर सेल, टॉरमेडो एवं स्ट्रोंग टीम ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। ईनामी वांछित अपराधी लालसिंह उर्फ लूणसिंह पुत्र अर्जुनसिंह जाति राजपूत निवासी जोगीदास का गांव, पुलिस थाना झिंझिणयाली, जिला जैसलमेर एवं उनके अन्य साथी राणाराम पुत्र सवाईराम जाति भील निवासी सांगाणा, पुलिस थाना सांगड जिला जैसलमेर को भारी हथियारों के जखीरा मय वाहन के साथ गिरफ्तार किया गया।

कई जिलों कमशः रेंज के जिला जैसलमेर द्वारा 20 हजार का ईनाम, जिला बाड़मेर द्वारा 25 हजार का ईनाम, जोधपुर पूर्व, आयुक्तालय जोधपुर द्वारा 5 हजार का ईनाम एवं रेंज स्तर द्वारा 8 हजार का ईनाम घोषित किया जाकर कुल ईनामी वांछित अपराधी है।

वर्ष 1994 में प्रथम केस हत्या का मुकदमा जिसमें इसने हरलाल सियाग को बेरहमी से मार दिया था। यह वर्ष 1994 से ही आजीवन कारावास के बाद वर्ष 2002 से पैरोल से फरार चल रहा था। उसके बाद से ही लगातार अपराध की दुनिया में सक्रिय एवं अन्य आपराधिक कृत्यों में पिछले लम्बे समय लगभग 30 वर्षों से अपराध में लिप्त है एवं 19 प्रकरणों हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, डकैती, चोरी, नकबजनी, अपहरण, व्यपहरण, गंभीर मारपीट, आर्म्स एक्ट, राजकार्य में बाधा एवं पैरोल से फरार इत्यादि के है। आदिनांक 03.04.2024 को रेंज स्तरीय टीमों मय जिला बाडमेर द्वारा भारी हथियारों के जखीरों के साथ गिरफ्तार किया गया।

बरामदगी का विवरणः तीन हथियार मय 300 से ज्यादा कारतूस, धारदार हथियार तलवार, चाकू एवं गुप्ती,बारूद बनाने का सामान,वाहनों की फर्जी नम्बर प्लेट, हिसाब-किताब की डायरियाँ एवं कुछ अन्य सामान और नकद राशि कुल 1,00,095 रूपये बरामदगी किया गया है।

इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए विकास कुमार ने बताया कि रेंज स्तरीय साईक्लोनर सेल को पिछले एक महिने से मिल रही आसूचना के माध्यम से आसूचना के माध्यम से ज्ञात हुआ कि ईनामी वांछित अपराधी लालसिंह पुत्र अर्जुनसिंह निवासी जोगीदास का गांव जिला जैसलमेर जो कि हथियार, गोला-बारूद की आपूर्ति तेजी से ले दे रहा है। इस पर विशेष टीमों को सतर्क किया जाकर करीब एक सप्ताह जिला जैसलमेर भेजा गया था परन्तु पुलिस की विशेष टीम इस पर हाथ मारती उससे पहले ही यह वहां से फरार हो गया। उसके बाद विशेष तकनीकी टीम द्वारा तकनीकी रूप से पुष्ट सूचना प्राप्त कर कल भी आधा दर्जन इसके वांछित ठिकानों पर दबीश दी गई परन्तु फिर से यह फरार हो गया। आज सुबह आसूचना मिली की जिला बाडमेर के एक गांव में होने की सूचना मिली। जिसमें यह पुलिस के हाथ लगने से पहले ही फरार हो गया परन्तु दो टीमों द्वारा लगातार पिछा किया और एक अन्य दल को बिशाला गांव के आस पास नाकाबंदी करा करा नाटकीय तरीके से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।

कुमार ने बताया कि ईनामी वांछित अपराधी को गिरफ्तार करने में रेंज स्तरीय टीमों की जिला बाडमेर पुलिस के सहयोग से वांछित ईनामी की गिरफ्तारी की कार्यवाही लाजवाब रही है। जिसमें श्री जितेन्द्र सिंह निरीक्षक, श्री कन्हैयालाल एवं श्री प्रमीत चौहान उपनिरीक्षक साईक्लोनर सेल, श्री भंवर सिंह उपनिरीक्षक पुलिस थाना रातानाडा जोधपुर कमिश्नरेट, महेन्द्र कुमार हैडकानि, कानि अशोक, झूमर, किशोर, देवाराम, नगाराम, राकेश, अचलाराम, कमांडो पपाराम, दिनेश, अनिल, भंवरलाल शामिल रहें। जिसमें मुख्य भूमिका किशोर एवं देवाराम कानि जिला बाडमेर की रही।

विकास कुमार, महानिरीक्षक पुलिस, जोधपुर रेंज, जोधपुर ने बताया कि टीमों का विशेष प्रस्ताव भेजा जाकर पुरस्कृत किया जाएगा। महानिरीक्षक पुलिस कुमार द्वारा बताया गया कि कसी भी आमजन को किसी भी अपराधी या अन्य सूचना जो कि अपराधी से संबंधित है, उसे रेंज पुलिस नियंत्रण कक्ष (संजय) नम्बर 0291-2650811 एवं वाट्सएप नंबर 9530441828 पर सूचना दी जा सकती है। उक्त सूचना देने वाले व्यक्ति की गोपनीयता का पूर्ण रूप से ख्याल रखा जाएगा।

– राजस्थान से राजूचारण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।