राजस्थान सरकार की बर्खास्तगी की मांग को लेकर सफाई कर्मचारी संघ ने सौंपा ज्ञापन

मुजफ्फरनगर। सफाई कर्मचारी संघ नगर पालिका परिषद मुजफ्फरनगर ने राजस्थान के जालोर जिले में शिक्षक द्वारा घड़े से पानी पीने को लेकर हुई अबोध बच्चे की बेरहमी से पिटाई के बाद उसकी मृत्यु होने को लेकर महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित एक पांच सूत्री ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा गया।
सफाई कर्मचारी संघ नगर पालिका परिषद मुजफ्फरनगर के महामंत्री अरविन्द उर्फ सोनू मचल तथा कार्यवाहक अध्यक्ष जितेन्द्र मचल के नेतृत्व में राष्ट्रपति को संबोधित पांच सूत्री ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा गया जिलाधिकारी की गैर मौजूदगी में अतिरिक्त उप जिलाधिकारी ने ज्ञापन लिया, दिए ज्ञापन में कहा गया कि आज़ादी के 75 वर्ष बीत जाने के बावजूद भी दलितों के प्रति अभी मानसिकता नही बदली है जिसका जीता जागता उदाहरण राजस्थान के जालोर जिले में कक्षा 3 के छात्र इन्द्र मेघवाल द्वारा शिक्षक के घड़े का पानी पीने से अबोध बच्चे इन्द्र मेघवाल की शिक्षक द्वारा बेरहमी से पिटाई की गई जिसकी उपचार के दौरान मृत्यु हो गई और तमाम देश को शर्मशार होना पड़ा। ज्ञापन में पांच सूत्री मांग की गई। राजस्थान सरकार को अविलंब बर्खास्त किया जाए, आरोपी शिक्षक पर कड़ी कानूनी कार्यवाही कराते हुए उसका मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाकर तीन माह में निर्णीत किया जाए, पीड़ित परिजनों को एक करोड़ रुपए दिलाए जाए, पीड़ित परिजनों को वन क्लास की सरकारी नौकरी दी जाए, पीड़ित परिजनों की सुरक्षा हेतु केन्द्रीय बल की सुरक्षा प्रदान की जाए। ज्ञापन देने वालों में मनोज सौदाई एडवोकेट, महक सिंह वाल्मीकि, शीलू बेनिवाल, संजय भारती नई मण्डी, राजेश ठेकेदार,दीपक पारचा, राजू वैद्य, सुधीर बेनिवाल, अजीत शेरयार, प्रवीण मचल, अश्वनी लोहट, विक्की टांक, सोमपाल, देवीप्रसाद, भूषण, गौरव कुमार, प्रेम शेरयार, अजीत चड्ढा, संदीप, राजकुमार, पाल्ला, राजेंद्र, विकास, शेरू, अवनीश आदि मौजूद रहे।

– हरिद्वार से तस्लीम अहमद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।