राइटर एंड डायरेक्टर कुलदीप कौशिक अपनी फिल्म नार का सुर की टीम के साथ पहुंचे राजधानी

• नारी शक्ति पर आधारित है नार का सुरः निर्देशक, कुलदीप कौशिक

• 5 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज होगी फिल्म

लखनऊ- लेखक और भारतीय फिल्म निर्देशक कुलदीप कौशिक की फिल्म ‘नार का सुर’ के प्रमोशन के सिलसिले में अभिनेता ललित परिमू, अभिनेत्री मन्नत सिंह, दीक्षा मान, पूजा वर्मा, शेयरन वर्मा, अक्षिता गुप्ता, रिद्धि गुप्ता व रितु सिंह, राजधानी लखनऊ की किरन लता भारती और ज्ञानेश उपाध्याय, शशांक प्रजापति, शिखर पांडेय, राजकुमार अमृत जुनेजा, बंटी वर्मा, देवंजन गुहा, सोमनाथ भोवाल, सूर्यकांत, विकास शर्मा व संजय शर्मा, सेकेंड कैमरा यूनिट मैन लखनऊ के विकास बाबू, कास्टिंग डायरेक्टर विवेक यादव के साथ टीम लखनऊ पहुंची। फिल्म नारी शक्ति पर आधारित फिल्म है, जिसमें गांव की औरतों को रोजमर्रा के कार्यों की जिम्मेदारी को उठाते हुए दिखाया गया है। फिल्म में उत्तर प्रदेश के कानपुर, मथुरा, प्रयागराज समेत दिल्ली, पंजाब, कोलकाता, बिहार, कश्मीर व अन्य कई राज्यों से युवा चेहरों बड़े परदे पर अभिनय करने का मौका मिला है।

निर्देशक कुलदीप कौशिक ने बताया कि यह फिल्म 5 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। उन्होंने जानकारी दी फिल्म उन 12 महिलाओं के इर्द-गिर्द घूमती है, जो देश में न्याय पाने के लिए संघर्ष करती हैं। फिल्म में स्वरूप नगर के देवांजन गुहा और कृष्ण लाल चंदानी ने संगीत दिया है। दोनों की जोड़ी कई मंच और टीवी कार्यक्रमों में आ चुकी है।

फिल्म निर्माता सुनील तायल का कहना है कि इस फिल्म की कहानी में महिला सशक्तिकरण का यह मजबूत संदेश होगा कि महिलाएं अपने रास्ते में आने वाली किसी भी चुनौती को बखूबी पार कर सकती हैं। उन्होंने बताया कि फिल्म में मुख्य भूमिका निभाने वाली 12 महिलाओं को देश के विभिन्न हिस्सों से चुना गया है।

इस फिल्म के लेखक व निर्देशक कुलदीप कौशिक हैं और निर्माता सुनील तायल और सह निर्माता विकास जैन हैं। बैकग्राउंड स्कोर के साथ मालिनी अवस्थी व सोमनाथ भोवाल ने फिल्म के संगीत को अपनी आवाज दी है। वहीं फिल्म में दिल्ली की अक्षिता गुप्ता, उत्तर प्रदेश की पूजा वर्मा, गंगाराम साहू व अर्जुन कृष्मा आदि नजर आएंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।