युवक ने ट्रेन के आगे मैं अपराधी हूं जज साहब मुझे फांसी दो यह कहते हुए दे दी जान, जेब से मिला खत

बरेली/फतेहगंज पश्चिमी। शुक्रवार को थाना क्षेत्र के फतेहगंज शाही रोड पर भिटौरा रेलवे फाटक के पास एक युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। युवक थाना शाही क्षेत्र के गांव सेवाज्वालापुर का रहने वाला है। उसके पास से एक पत्र भी मिला है। लोग उसे आवाज देकर रोकते रहे लेकिन वह ट्रेन के आगे मैं अपराधी हूं जज साहब मुझे फांसी दो यह कहते हुए कूद गया। सूचना पर पहुंची जीआरपी पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। आपको बता दें कि थाना शाही क्षेत्र के गांव सेवाज्वालापुर निवासी करीब 30 वर्षीय केहरपाल ने शुक्रवार की शाम को करीब पांच बजे भिटौरा रेलवे फाटक से रामपुर की ओर करीब डेढ़ सौ मीटर की दूरी पर डाउन लाइन पर आ रही ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। मौजूद लोगो के मुताबिक वह शाही की ओर से साइकिल से आया। ट्रेन रामपुर की ओर से आ रही थी। साइकिल खड़ी करने के बाद मैं अपराधी हूं जज साहब मुझे फांसी की सजा दो। यह कहते हुए ट्रेक पर दौड़कर ट्रेन के आगे लेट गया। ट्रेन उसे काटकर आगे बड़ गई। लोग उसे आवाज देकर रोकते रहे। उसका गर्दन से शरीर दो भागो मे बट गया। उसके जेब से मिले पत्र मे उसने आत्महत्या के पीछे किसी और को दोषी नही मानकर खुद को अपराधी माना है। वह जिला जज से फांसी देने की गुहार लगा रहा है। उसने अपने गुरु को भी चाय मे जहर देकर मारने की बात कही है। बताया उस समय वह केवल पांच वर्ष का था। पत्र मे गुरु को समर्पित बहुत भजन भी लिखे है। सूचना पर थाना पुलिस और जीआरपी पुलिस मौके पर पहुंची। मामला रेलवे के अंडर होने के कारण जीआरपी पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया है। केहरपल शादी शुदा है। उसके एक बेटा और तीन बेटियां है। आत्महत्या का और कोई कारण स्पष्ट नही हो सका है।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।