मेडिकल छात्रा को डिजिटल अरेस्ट का डर दिखाकर वसूले 8.17 लाख, स्काइप पर हुई वीडियो कॉल

बरेली। राम मूर्ति मेडिकल कॉलेज की मेडिकल छात्रा को आधार कार्ड के गैरकानूनी प्रयोग मे डिजिटल अरेस्ट का भय दिखाकर साइबर ठग ने 08 लाख 17 हजार 297 रुपये वसूल लिये। छात्रा की ओर से साइबर थाने मे मुकदमा दर्ज कराया गया है। छात्रा मूलरूप से गाजियाबाद की निवासी है। साइबर थाने मे दर्ज मुकदमे मे उन्होंने बताया कि 21 फरवरी की दोपहर दो बजे उनके नंबर पर एक अज्ञात नंबर से लड़की का फोन आया। खुद को फेडेक्स कोरियर कंपनी का कर्मी बताकर लड़की ने कहा कि आपका आधार कार्ड गैरकानूनी काम में लिप्त पाया गया है। छात्रा की ओर से कहा गया कि उसने कोई ऐसा कार्य नही किया और खुद को मेडिकल की छात्रा बताया। इस पर लड़की ने कहा कि यदि आपने ऐसा नही किया है तो आप मुंबई साइबर क्राइम पर शिकायत कर सकतीं है। लड़की ने ही मुंबई साइबर सेल का अधिकारी बताते हुए कथित दारोगा विक्रांत सिंह से बात कराई। आरोपित ने छात्रा की काल को स्काइप पर ट्रांसफर कर दिया। जैसे ही वीडियो काल शुरू हुई आरोपित की ओर से छात्रा का आधार कार्ड एवं फोटो मांगी गई। आधार कार्ड व फोटो उपलब्ध कराते ही ठग ने कहा कि इस आइडी का प्रयोग अनेक अवैध खाते व मनी लांड्रिंग मे नवाब मलिक के द्वारा इस्तेमाल किया गया है। ऐसे मे केस हल होने तक आपको सर्विलांस पर रखा जाएगा। इस पर छात्रा डर गई, जिसके बाद ही ठग ने ढांढ़स बंधाते हुए कहा कि परेशान न हो। हम कोशिश करते है कि आपका मामला निपट जाए। इसी के बाद झांसे में लेकर एक अकाउंट नंबर छात्रा काे उपलब्ध कराता है और आठ लाख 17 हजार 297 रुपये खाते में डलवा लेता है। फिर मामला निपटने का हवाला देकर अधिकारियों का हस्ताक्षरयुक्त कागज दिखाता है और काल काटने के लिए कहता है। काल कटने के थोड़ी देर बाद छात्रा को धोखाधड़ी की जानकारी हुई जिसके बाद उन्होंने साइबर पुलिस से शिकायत की।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।