मुख्यमंत्री की लताड़ के बाद किया अस्पताल का औचक निरीक्षण: पांच चिकित्सको को अनुपस्थित रहने पर दिया नोटिस

बाडमेर/राजस्थान- शुकवार को प्रातः अतिरिक्त जिला कलेक्टर हेमेन्द्र नागर द्वारा जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया गया। इस दौरान अनुपस्थित रहने वाले पांच चिकित्सकों को कारण बताओं नोटिस जारी किये।अतिरिक्त जिला कलेक्टर हेमेन्द्र नागर ने जिला चिकित्सालय में सर्दी के दौरान ठंड से होने वाली बीमारियों के संबंध में चिकित्सालय में मरीजों के लिए व्यवस्थाओ का जायजा लिया। जिला अस्पताल में ओपीडी, आईपीडी और आईसीयू का निरीक्षण किया और विभिन्न वार्डो में भर्ती मरीजों से निशुल्क दवा योजना को लेकर जानकारी ली। वही अस्पताल में साफ सफाई, दवा स्टोर पर दवाईयो की उपलब्धता एवं पार्किग व्यवस्था को लेकर जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान जिला चिकित्सालय में उपस्थित पंजिका मे अनुपस्थित पांच चिकित्सकों को कारण बताओं नोटिस जारी किये।

अतिरिक्त जिला कलेक्टर ने निर्देश दिए कि मरीजों को चिकित्सालय में किसी प्रकार की दिक्कत न हो, यह सुनिश्चित किया जाए। साथ ही उन्होंने अस्पताल में आने वाले हर मरीज को मुख्यमंत्री निःशुल्क दवाई एवं जांच कराने को कहा। उन्होंने अस्पताल के विभिन्न वार्डों का भृमण कर रोगियों के स्वास्थ्य की जानकारी ली एवं इस दौरान उन्होंने आपातकालीन वार्ड एवं मातृ शिशु केन्द्र के आगे पार्किग व्यवस्था का जायजा लेकर पार्किग व्यवस्था को अन्य जगह स्थापित करने के लिए प्रस्ताव तैयार कर अस्पताल की पार्किग व्यवस्था सुव्यवस्थित करने के निर्देश दिये।

अतिरिक्त जिला कलेक्टर नागर ने चिकित्सालय में वार्डो के निरीक्षण के दौरान साफ सफाई व्यवस्था असंतोषजन होने पर प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को संबंधित सफाई ठेकेदार को नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होने कहा कि अस्पताल में सभी व्यवस्थाएं अच्छी हो, इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा आगे भी समय-समय पर निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लेकर उन्हें और बेहतर किया जाएगा।रहे।

इस दौरान अतिरिक्त जिला कलेक्टर हेमेन्द्र नागर को प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. बी.एल. मंसूरिया ने निःशुल्क दवाओ, जांचों एवं अन्य चिकित्सा संबंधी योजना के बारे में जानकरी दी। भ्रमण के दौरान स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।

– राजस्थान से राजूचारण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।