महाकाल उज्जैन के लिए 280 कांवरियों का जत्था रवाना

*फतेहगंज कस्बा वासियों एवं बरेली मेयर उमेश गौतम ने सभी कांवरियों का किया स्वागत

बरेली/ फतेहगंज पश्चिमी – कस्बे के महंत सत्य प्रकाश अग्रवाल के नेतृत्व में महाकाल उज्जैन को 280 कांवरियों का पहला जत्था आज रवाना हुआ, इससे पहले सभी कांवरियों ने मोहल्ला साहूकारा में स्थित ठाकुरद्वारा मंदिर में विधि विधान से पूजा अर्चना की उसके बाद सभी कांवरियों का कस्बे के चेयरमैन कृष्णपाल मौर्य, अखिलेश अग्रवाल, नरेश ऐरन, राज कपूर गुप्ता, जानकी देवी इंटर कॉलेज के वरिष्ठ लिपिक अमित कुमार सिंह, गोविंद गुप्ता उर्फ सीपू, कैलाश अग्रवाल, राष्ट्रीय मानव अधिकार के मंडल अध्यक्ष ठाकुर सिंह, सभासद अनिल सिंह, डॉक्टर मुदित प्रताप सिंह, सभासद महेंद्र पाल शर्मा, भाजपा मंडल अध्यक्ष संजय चौहान, अमित साहू, जतिन चौहान, व्यापार मंडल अध्यक्ष कैलाश शर्मा, दीपक गोयल, श्यामसुंदर गुप्ता, सूचित अग्रवाल, सुबोध पोरवाल, जतिन सिंघल ,सुनील रस्तोगी एवं कस्बे वासियों ने फूल माला पहनाकर जोरदार स्वागत कर सभी कांवरियों को उज्जैन महाकाल के लिए विदा किया ,

आज कस्बे के लगभग ढाई सौ लोग बरेली से ट्रेन से श्री महाकाल उज्जैन को रवाना हुए, सावन महा का यह पहला जत्था आज रवाना होकर ओम कालेश्वर से जल भर कर 130 किलोमीटर पैदल यात्रा कर महाकाल उज्जैन मंदिर मध्य प्रदेश में 20 जुलाई को जल अभिषेक करेंगे , उसके बाद 22 जुलाई को फतेहगंज पश्चिमी वापस लौटेंगे, महाकाल जाने वाले भक्त गणों में विनोद अग्रवाल, मुकेश भारद्वाज, तिलक सिंह, शीलू चौहान, रोहित सिंह, हरीश गुप्ता, शोभित अग्रवाल, सर्वेश गुप्ता, मयंक अग्रवाल, अमर सिंह सोमवंशी, शुभम भारद्वाज, हर्ष सोमवंशी, आशीष अग्रवाल, मनोज भदौरिया, प्रशांत अग्रवाल, हिमांशु मिश्रा, चंदन सिंह, रानू मिश्रा, शुभम अग्रवाल, सार्थक, गौतम गोयल, प्रिंस गुप्ता, राज रस्तोगी, संजीव सागर, हरीश शर्मा समेत 280 कांवरियों का जत्था रवाना,

कस्बा फतेहगंज पश्चिमी से ढाई सौ लोगों का जत्था रेलवे जंक्शन पहुंचने पर बरेली मेयर उमेश गौतम और उनके साथियों ने सभी कांवरियों का फूल माला पहनाकर स्वागत किया,

बरेली से संवाददाता डॉक्टर मुदित प्रताप सिंह की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।