मंत्री ने एनडीआरएफ की नाव में सवार होकर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का किया मुआयना

कहा बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में युद्ध स्तर पर लोगों को मदद पहुंचाई जाए – मंत्री

मंत्री ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण कर हमीरपुर में बाढ़ की स्थिति का लिया जायजा

मंत्री ने बाढ़ राहत केंद्रों का किया निरीक्षण

हमीरपुर- मंत्री सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम, खादी एवं ग्रामोद्योग, रेशम ,हथकरघा तथा वस्त्र उद्योग विभाग उत्तर प्रदेश राकेश सचान एवं राज्यमंत्री राजस्व विभाग उत्तर प्रदेश श्री अनूप प्रधान ने जनपद में यमुना एवं बेतवा नदी में आई बाढ़ के दृष्टिगत बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों का मुआयना किया तथा कुछेछा स्थित राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में बने बाढ़ राहत केंद्रों का निरीक्षण कर वहां बाढ़ से प्रभावित लोगों को दी जा रही विभिन्न सुविधाओं यथा भोजन पानी स्वास्थ्य सुविधाओं ,पशुओं हेतु भूसा वितरण एवं अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया ।मंत्रीगण ने एनडीआरएफ की नाव के माध्यम से बाढ़ से प्रभावित क्षेत्र केसरिया का डेरा में भ्रमण कर स्थिति का जायजा लिया तथा वहां रह रहे लोगों से बाढ़ राहत केंद्रों में चलने की अपील की। स्थानीय लोगों से प्रशासन द्वारा दी जा रही बाढ़ राहत संबंधी सुविधाओं के बारे में भी जानकारी प्राप्त की, स्थानीय लोगों द्वारा भोजन पानी एवं अन्य जरूरी सुविधाओं को प्रशासन द्वारा समय समय पर मुहैया कराए जाने की बात बताई गई। तत्पश्चात मंत्री गण ने बाढ़ राहत केंद्रों में पहुंचकर वहां दिए जा रहे भोजन पानी आदि की गुणवत्ता देखी तथा वहां दी जा रही चाय पीकर उसकी गुणवत्ता देखी।इस दौरान जिलाधिकारी डॉ चंद्र भूषण द्वारा जनपद के भौगोलिक स्थिति एवं बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों के बारे में तथा वहाँ बाढ़ से निपटने हेतु व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी गयी। उन्होने जनपद के बाढ़ से प्रभावित गांवों के बारे में जानकारी दी तथा कहा कि इन गांव पर लगातार प्रशासन की विभिन्न टीमों द्वारा भ्रमण कर क्षेत्र पर नजर रखी जा रही है। जिलाधिकारी द्वारा मंत्री को जनपद स्तर पर बाढ़ से निपटने हेतु रणनीति के बारे में बताया गया कि सभी बाढ़ प्रभावित ग्रामों में नोडल अधिकारी बनाया गया जो अपने-अपने ग्रामों में रह कर कार्य कर रहे हैं । बताया कि जनपद में बाढ़ नियंत्रण हेतु कलेक्ट्रेट में 24 घण्टे क्रियाशील बाढ़ कन्ट्रोल रूम की स्थापना की गयी जिसका दूरभाष नं0- 05282-222330 , 222365 है जिस पर कर्मचारियों की ड्यूटी लगायी गयी हैं। बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लोगो को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है। बाढ़ के राहत कार्यो/ प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों पर लाने हेतु एनडीआरएफ की टीम लगाई गई है। जनपद में बाढ़ से प्रभावी ढंग से निपटने हेतु 36 बाढ़ चौकी स्थापित की गई है। सभी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत टीम के साथ मेडीकल टीम भी लगा कर दवाओं किट एवं आवश्यक उपचार देेंने ओ0आर0एस0 एवं क्लोरीन की टेबलेट का भी वितरण कराने की व्यवस्थाा कराई जा रही हैं। इसी प्रकार पशुओं हेतु भी वेटनरी मेडीकल टीम ग्रामों में भ्रमण कर राहत कार्य कर रही हैं।
बाढ़ राहत सुविधाओं / कार्यो के बारे में मंत्री द्वारा जिला प्रशासन की सराहना की गयी।उन्होने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी से बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में पशुओं के चारा, भूसा, पानी तथा बीमार पशुओं को दवाओं आदि की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिये। उन्होने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि बाढ़ से प्रभावित गांवों में रहने वाले व्यक्तियों को सभी प्रकार की दवाओं के प्रबन्ध किये जाये। उन्होने प्रशासन से प्रभावित गांवों में खाद्यान्न सामग्री के पैकेट तथा इमरजेन्सी लाईट आदि की व्यवस्था किये जाने के निर्देश दिये। उन्होने यह भी कहा कि ऐसे गांवों के व्यक्तियों को कपड़े, पीने के पानी गेलन द्वारा भेजे जाये। कहा कि किसी भी प्रकार की समस्या पर तत्काल राहत हेतु युद्ध स्तर पर कार्य किया जाए।इस मौके पर सदर विधायक मनोज कुमार प्रजापति , पुलिस अधीक्षक शुभम पटेल, बीजेपी जिलाध्यक्ष ब्रज किशोर गुप्ता ,अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व रमेश चंद्र ,मुख्य विकास अधिकारी मथुरा प्रसाद मिश्रा ,अध्यक्ष नगर पालिका परिषद हमीरपुर कुलदीप निषाद ,अन्य संबंधित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी ,पार्टी पदाधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।