भाजपा, सपा और कांग्रेस पर बरसे माया के भतीजे आकाश आनंद, कहा- बेइज्जती का टैग है बुलडोजर की सरकार

बरेली। बसपा के नेशनल को आर्डिनेटर और मायावती के भतीजे आकाश आनंद ने बरेली मे जनसभा मे सपा और कांग्रेस पर निशाना साधा। साथ ही भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि 25 दलों को साढ़े 16 हजार करोड़ रुपये चुनावी चंदा मिला। बीएसपी को एक रुपया नहीं मिला। बीएसपी पूरे देश में धन्नासेठ के सहारे नही, कार्यकर्ता के बल पर चुनाव लड़ेगी। बीएसपी का कार्यकर्ता किताब को अपना कर्तव्य समझता है। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के राष्ट्रीय समन्वयक आकाश आनंद ने कहा कि सुरक्षा, शिक्षा, रोजगार मुहैया कराने में भारतीय जनता पार्टी नाकाम है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस आरक्षण दिलाने का दावा कर रही है जबकि बहन जी ने पहले से ही आरक्षण दिला दिया है। सपा सिर्फ सबको टोपी पहना रही है। इन सभी की सरकारों ने दलितों के हाथ में कटोरा देने का काम किया है। अगर बहनजी न होती तो दलित सबसे पहले मिटा दिए गए होते। उन्होंने कहा कि बहुजन समाज को समझना होगा उनका हितैषी अगर कोई है तो वह मायावती ही है। समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए बोले कि जो इनके लिए वोट डालता है उसके लिए यह लड़ नही सकते। इनको वोट डालना मतलब अपने समाज के खिलाफ वोट डालना। बीजेपी सरकार मे रोजगार नहीं, पेपर लीक ही हुआ है। युवाओं को परीक्षा से नौकरी की उम्मीद होती है, पर खबर आती है कि पेपर लीक हो गया। यह सरकार का बहाना है। आठवीं के छात्र गणित का सवाल नहीं हाल कर पाते। स्कूलों में कंप्यूटर नहीं है, डिजिटल इंडिया का दावा हवाई है। शिक्षा से खिलवाड़, भविष्य से खिलवाड़ है। तीन में एक बेरोजगार है। आधा पंडाल हाथ उठा रहा है। इसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर डालकर सरकार तक पहुंचा दो। आकाश ने कहा कि सरकार किसी को छत नहीं दे सकी लेकिन उनसे छत छीन रही है। बुलडोजर की सरकार बेइज्जती का टैग है। इन्हें समझाने की जरूरत नहीं इनसे सवाल पूछने की जरूरत है। यह सरकार सिर्फ कटोरा थमा रही है। इस बार इन्हें मुंहतोड़ जवाब दीजिएगा। आकाश आनंद ने बरेली लोकसभा उम्मीदवार मास्टर छोटेलाल गंगवार, आंवला से आबिद अली, पीलीभीत से अनीस अहमद फूल बाबू, शाहजहांपुर से डॉ. डीआर वर्मा, शाहजहांपुर के उपचुनाव में उम्मीदवार सर्वेश चंद्र मिश्रा धांधू के समर्थन में मंडल भर से मौजूद समर्थक, कार्यकर्ताओं से मतदान करने और कराने की अपील की।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।