ब्रह्मचारिणी का पूजन करने मंदिरों में उमड़ा आस्था का सैलाब, किया पूजन

बरेली। चैत्र नवरात्र के दूसरे दिन देवी के द्वितीय स्वरूप मां ब्रह्मचारिणी का पूजन हुआ। शहर के प्रमुख मंदिरों में ब्रह्ममुहूर्त से ही देवी की उपासना को भक्तों की कतारें लग गई। शहर के कालीबाड़ी मंदिर में माता का शृंगार और शाम को महाआरती हुई। महाआरती में बड़ी संख्या में भक्त शामिल हुए। मंदिरों में श्रद्धालुओं ने देवी मां के भजन भी गाए। साहूकारा स्थित नव दुर्गा मंदिर, बदायूं रोड के चौरासी घंटा मंदिर, नेकपुर स्थित ललिता देवी मंदिर और नरियावल स्थित शीतला देवी मंदिर में नवरात्र के दूसरे दिन भक्तों की कतारें लगी रहीं। शक्ति की आराधना कर भक्तों ने माता को चुनरी चढ़ाई। नवरात्र का व्रत रख रहे देवी भक्तों ने घरों में पूजन के बाद मंदिर पहुंचकर मां के दर्शन किए। नवरात्र के दूसरे दिन बुधवार को मातारानी का भक्तों ने श्रद्धापूर्वक दर्शन-पूजन किया। मां ब्रह्मचारिणी की विधि-विधान से उपासना की। देवी भक्तों के जयकारे से माता रानी का दरबार गूंज उठा। व्रतियों की कतार सुबह ही मंदिरों के बाहर लग गई। माला-फूल चढ़ाकर भक्तों ने माता रानी से आशीर्वाद मांगा। फूलों से सजे मंदिरों में माता रानी के भजन और कीर्तन के स्वर गूंजते रहे। प्रमुख मंदिरों में भीड़ को देखते हुए पुलिस बल तैनात रहा। जनकपुरी स्थित हर मिलाप शिव शक्ति मंदिर, त्रिवटीनाथ मंदिर, अलखनाथ मंदिर, बांके बिहारी मंदिर, मॉडल टाउन स्थित श्री हरि मंदिर समेत अन्य प्रमुख मंदिरों में सुबह से ही घंटे-घड़ियाल की आवाज गूंजती रही। नवरात्र के दूसरे दिन माता रानी की आराधना कर भक्तों ने मनोकामना पूर्ण करने का आशीर्वाद मांगा। व्रती महिलाओं ने मंत्रोच्चार के साथ विधि-विधान से मां की आराधना की। उनकी आरती उतारी गई। शाम को कई मंदिरों में भजन संध्या का आयोजन किया गया और लोगों को प्रसाद बांटा गया।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।