बरेली मे बवाल के बाद एक्शन मे पुलिस-प्रशासन: सीसीटीवी फुटेज व वीडियो से खुराफातियों की हो रही तलाश

बरेली। शुक्रवार को हुए बवाल को लेकर पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से एक्शन मे आ गया है। श्यामगंज मे बवाल करने वाले खुराफातियों की सीसीटीवी के जरिए पहचान की जा रही है। शुक्रवार की दोपहर मौलाना तौकीर रजा के बुलावे पर इस्लामिया ग्राउंड के पास हजारों लोगों की भीड़ जमा हो गई थी। इस दौरान ज्ञानवापी प्रकरण को लेकर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी की गई और मौलाना तौकीर रजा ने भड़काऊ बयानबाजी की। इससे पूरे शहर मे दहशत का माहौल बन गया और व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद कर दी। हालांकि इस प्रदर्शन को रोकने के पुलिस-प्रशासन ने पूरे प्रयास किए लेकिन वहां पर भीड़ जमा होने से नही रोक सके। भीड़ के इस जमावड़े को धारा 144 का उल्लंघन माना जा रहा है लेकिन इस पर कार्रवाई को लेकर अफसरों ने कोई निर्णय नही लिया है। इस्लामिया ग्राउंड से लौटने के दौरान कुछ खुराफातियों ने श्यामगंज में तीन स्थानों पर मारपीट, पथराव व तोड़फोड़ कर माहौल बिगाड़ने की कोशिश की। इसको लेकर थाना बारादरी में जगतपुर निवासी कपिल शर्मा और हजियापुर के मुस्तकीम की ओर से दो मुकदमे दर्ज किए गए है। इन दोनों मुकदमों में 110 अज्ञात लोगों को आरोपी बनाया गया है। इनकी शिनाख्त के लिए पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। पुलिस का कहना है कि इन घटनाओं से जुड़े कई वीडियो और फोटो भी मिले हैं, उनसे भी पहचान की जा रही है। एसएसपी सुशील घुले और एसपी सिटी राहुल भाटी ने शुक्रवार की रात एक बजे पुलिस व प्रशासन के अन्य अफसरों के साथ बारादरी के पुराना शहर, श्यामगंज समेत अन्य इलाकों में पैदल गश्त कर स्थिति का जायजा लिया। माहौल को देखते हुए अभी यहां पर पुलिस बल तैनात किया गया है। अफसरों का कहना है कि 12 फरवरी तक यहां सुरक्षा बल तैनात रहेगा ताकि कोई खुराफात कर माहौल न बिगाड़ सके।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।