बरेली मे उर्स-ए-ताजुश्शरिया का परचम कुशाई से होगा आगाज

बरेली। दो रोजा उर्स-ए-ताजुश्शरिया का आगाज बुधवार को परचमकुशाई की रस्म के साथ हो जाएगा। उर्स के चलते देश विदेश के जायरीन के आने का सिलसिला भी शुरू हो चुका है। उर्स की तैयारियां मथुरापुर स्थित मदरसा जामिआतुर्रजा में पूरी हो चुकी है। मथुरापुर का मदरसा सजधजकर तैयार है। इसके अलावा सौदागरान स्थित दरगाह ताजुश्शरिया पर जायरीन हाजिरी देने पहुंच रहे हैं। उर्स के कार्यक्रम ऑनलाइन भी सुने जा सकेंगे। बुधवार को काजी-ए-हिंदुस्तान मुफ्ती मुहम्मद असजद रजा खान कादरी की सरपरस्ती व सदारत में परचम कुशाई की जाएगी। जमात रजा-ए-मुस्तफा के महासचिव फरमान मियां ने बताया कि देश विदेश में ताजुश्शरिया के करोड़ों मुरीद और चाहने वाले हैं। जिनमें से बहुत से लोग उर्स में हाजिरी के लिए बरेली पहुंच चुके है। वही जमात के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व उर्स प्रभारी सलमान मियां ने बताया कि उर्स कि उर्स की तैयारी में किसी प्रकार की कमी नहीं रह पाए लिहाजा जमात के स्वयंसेवकों को जायरीन की खिदमत में लगाया गया है। मुख्य रूप मेहंदी हसन, हाफिज इकराम, शमीम अहमद, मोईन खान, नावेद खान साकिब अली,अब्दुल सलाम अली रजा, शरीफ उद्दीन रजवी, आमिर रजा, मोहम्मद रफी, मोहम्मद अनस रजा आदि को उर्स की जिम्मेदारियां सौंपी गई है। बुधवार की शाम सौदागरान स्थित दरगाह ताजुश्शरिया पर फज्र की नमाज के बाद कुरान ख्वानी व नात और मनकबत की महफिल का आयोजन होगा। वहीं शाम को परचमकुशाई की जाएगी। मथुरापुर स्थित मदरसा जामियातुर्रजा में ईशा की नमाज के बाद उलमा की तकरीर होगी। देर रात 1 बजकर 40 मिनट पर मुफ्ती-ए-आजम हिंद का कुल होगा। गुरुवार की सुबह 7 बजकर 10 मिनट पर मुफस्सिर-ए-आजम का कुल होगा। जामियातुर्रजा मे जोहर की नमाज के बाद मनकबत व उलमा तकरीर का कार्यक्रम चलेगा। शाम 7 बजकर 14 मिनट पर ताजुश्शरिया के कुल की रस्म अदा की जाएगी।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।