बरेली जेल मे बंद शूटर इंस्टाग्राम पर आया लाइव, वीडियो मे बोला- स्वर्ग मे हूं, चिंता की कोई बात नही

बरेली। जनपद शाहजहांपुर के ठेकेदार राजेश हत्याकांड के जेल मे बंद आरोपी आसिफ का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें वह जल्दी बाहर आने की बात कह रहा है। वीडियो वायरल होने से पुलिस और जेल प्रशासन में हड़कंप मचा है कि आखिर हत्यारोपी तक मोबाइल कैसे पहुंचा। वही एसपी सिटी राहुल भाटी ने जेल मे पहुंचकर मामले की जांच की। जेल अधीक्षक विजय कुमार का तर्क इससे इतर है। उन्होंने कहा कि सात मार्च को आसिफ पेशी पर शाहजहांपुर गया था। संभव है कि वही किसी से मोबाइल फोन ले लिया हो। आपको बता दे कि बुधवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ। यह शाहजहांपुर के चर्चित ठेकेदार राकेश हत्याकांड के आरोपी आसिफ का है, जो इन दिनों बरेली जेल मे बंद है। आरोपी मेरठ का रहने वाला है। वायरल हो रहे वीडियो मे वह कह रहा है, स्वर्ग मे मौज ले रहे है। जल्दी आ रहे हैं, चिंता करने की कोई जरूरत नही। बड़ों का आशीर्वाद है। दोस्त तो दिल मे रहते हैं। उनके लिए अलग से जगह नहीं बनाई जाती। जिदंगी में सबकुछ पैसा ही नहीं होता। संबंध कमाना जरूरी है। लोग पूरी जिंदगी गुजार देते हैं लेकिन संबंध नहीं कमा पाते। पैसा क्या है। कोई तुम्हें दिलेरी के लिए याद करे यह भी जरूरी होता है। क्षत्रिय जीवन जीना हर किसी के बस की बात नही। पैसा चाहिए हो तो हमसे ले लेना। यह वीडियो वायरल होने के बाद वादी राजेश ने अफसरों से मौखिक शिकायत की और खुद को खतरा भी बताया। वही, सीओ सिटी बीएस वीर कुमार ने बताया कि शाहजहांपुर जनपद का नही है, जहां का है। वहां लिखकर भेजा जाएगा। हत्यारोपी का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस और जेल प्रशासन में हड़कंप मचा है। पुलिस इसे जेल परिसर का वीडियो बता रही है तो जेल प्रशासन पेशी के दौरान का वीडियो बता रहा है। एसएसपी सुशील घुले के निर्देश पर एसपी सिटी राहुल भाटी ने जेल का औचक निरीक्षण कर आरोपी से पूछताछ भी की। इस मामले एसएसपी सुशील घुले ने बताया कि वीडियो में जेल की ऊंची दीवार और पेड़ दिख रहे हैं। एसपी सिटी को जेल भेजकर निरीक्षण कराया गया। आरोपी की बैरक में कुछ नहीं मिला। वीडियो से स्पष्ट है कि वह पेशी के दौरान नही बना।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।