बरंगम 2024 के चौथे दिन रंगकर्मियों की बदहाल स्थिति को दर्शाते नाटक तमाशा का हुआ मंचन

बरेली। रंगालय एकेडमी ऑफ आर्ट एंड कल्चर सोसाइटी के तत्वावधान में 14 वें बरेली रंग महोत्सव ‘बरंगम 2024’ के पांचवे दिन कलाकारों ने
खुशहाली चैरिटेबल ट्रस्ट के सभागार में नाटक तमाशा का मंचन किया।

सुशील कुमार सिंह द्वारा लिखित एवं शैलेन्द्र कुमार द्वारा निर्देशित नाटक में विकृत हो रही कला संस्कृति के कारण रंगककर्मियों की बदहाल स्थितियों का खाका खींचा गया। नौटंकी शैली में प्रस्तुत नाटक में दिखाया गया कि एक राजा अपने राज्य की प्रजा पर और कलाकारों तथा कला संस्कृति पर इसलिए खर्च नहीं करता कि उसका खजाना भरा रहे जनता से किसी भी तरीके से बस पैसा वसूला जाता रहे राजा के इन्ही कुत्सित प्रयासों के कारण एक दिन प्रजा एवं कुटुम्बजन राजा की हत्या के प्रयासों में लग जाते है। ऐसे में एक दिन दरबार मे कलाकार ऐसा तमाशा दिखाते है कि राजा के खिलाफ साजिश करने वालो का पर्दाफाश हो जाता है। नाटक में अजय गौतम, राहुल, राजेन्द्र सिंह, सपना, शुभी शालिनी गुप्ता, शैलेन्द्र कुमार ने मुख्य भूमिकाएं अदा की। प्रकाश व्यवस्था मोहित कुमार सक्सेना ने की।

कार्यक्रम का शुभारंभ डा. विनोद पागरानी ने दीप प्रज्वलन से किया।

अन्य अतिथियों में सपना दिवेदी, शुभी शर्मा, शालिनी गुप्ता, प्रिया गुप्ता, मोहित सक्सेना, मानस सक्सेना, राजेन्द्र सिंह, संजय कुदेशिया, सुशील कुमार सक्सेना, सचिन श्याम भारतीय, अंचल अहेरी, महेन्द्र पाल, संजीव सक्सेना, कवि रोहित राकेश, ऋषि रंजन सिंह, संजय मठ आदि दर्शक मौजूद रहे।

– बरेली से सचिन श्याम भारतीय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।