फरीदपुर मे पति-पत्‍नी और तीन बच्‍चों को कमरे में बंद कर जिंदा जला डाला, सीएम योगी ने जताया दुख

फरीदपुर, बरेली। जनपद के थाना फरीदपुर क्षेत्र के एक ही परिवार के पांच लोगों को घर में बंद कर जिंदा जला दिया गया। मारे गए लोगों में पति-पत्नी, उनके दो बेटे और एक बेटी शामिल है। सूचना पाकर मौके पर भारी भीड़ जुट गई है। पुलिस घटना की जांच पड़ताल कर रही है। वही इस घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय पुलिस के साथ डीएम रविंद्र कुमार, एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान, एसपी देहात, अपर जिलाधिकारी प्रशासन, एसडीएम, सीओ, चीफ फायर ऑफिसर दमकल टीम के साथ मौके पर पहुंचे। इस दौरान पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया। दर्दनाक घटना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गहरा दुख प्रकट किया है। उन्होंने दिवंगत आत्माओं की शांति की कामना करते हुए मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त की है। वही सरकार की तरफ से 5 लाख रुपए की मुआवजा राशि जिला प्रशासन की ओर से दी गई। इसके साथ ही दाह संस्कार का खर्च भी जिला प्रशासन ने किया। आपको बता दें कि थाना फरीदपुर क्षेत्र के मोहल्ला फर्रखपुर में तिरंगा स्कूल के सामने रहने वाले अजय कस्बे मे ही हाइडल के सामने छोटा सा ढाबा चलाते थे। रविवार की सुबह करीब आठ बजे लोगों ने उनके घर से धुआं निकलते देखा। जब लोग वहां पहुंचे तो दरवाजे पर ताला लगा था। अंदर से दरवाजा बंद करने के लिए कोई सिटकनी भी नही थी। पुलिस के पहुंचने से पहले ही किसी परिजन ने दरवाजा धक्का देकर खोल दिया था। पुलिस अंदर पहुंची तो कमरे के दरवाजे पर भी ताला लगा था। इसके बाद कमरे का भी ताला तोड़ा गया। अंदर कमरे में अजय (उम्र 35 वर्ष), उनकी पत्नी अनीता (उम्र 30 वर्ष), बेटा दिव्यांश (उम्र 09 वर्ष), बेटी दिव्यांग्या ( उम्र 06 वर्ष) और छोटा बेटा दक्ष (उम्र 03 वर्ष) के शव जलते मिले। पुलिस ने लोगों की मदद से आग बुझाकर शवों को कमरे से बाहर निकलवाया। पांचो के शव बुरी तरह जल चुके थे। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। फोरेंसिक टीम भी जांच पड़ताल कर रही है। इस घटना को लेकर कई सवाल भी उठ रहे हैं। जिस कमरे मे लाशें मिली, उसका दरवाजा बाहर से बंद कर ताला लगाया गया था। इतनी दर्दनाक घटना होने के बावजूद मोहल्ले में किसी ने चीखें तक नहीं सुनी, जिससे हत्या की आशंका भी जताई जा रही है। आसपास के लोग इस घटना से हैरान है। अजय व उनकी पत्‍नी और बच्‍चों को आग से खुद को बचाने के लिए बाहर भाग निकलने का भी मौका नही मिला। एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान ने बताया कि बहुत की दुखद घटना हुई है। घर में आग कैसे लगी है। हर पहलू पर जांच कराई जा रही है। फायर ब्रिगेड की टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की है।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।