पीसीएफ के पूर्व जिला प्रबंधक के खिलाफ बारदारी पुलिस ने जांच की शुरू

बरेली। पीसीएफ नवीन गल्ला मंडी के पूर्व जिला प्रबंधक महेंद्र कुमार गर्ग और उनके सहयोगी सुरेश यादव के खिलाफ थाना बारादरी पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पीड़ित ठेकेदार वीरेंद्र सिंह यादव ने विवेचक को लेनदेन से जुड़े ऑडियो और गवाहों के नाम पता और मोबाइल नंबर दे दिए हैं। ऑडियो में महेंद्र गर्ग स्वयं ही वीरेंद्र से रुपये लेने की बात स्वीकार कर रहे है। ऐसे में महेंद्र कुमार गर्ग की मुश्किलें बढ़ती दिख रही है। वर्तमान में महेंद्र गर्ग संतकबीर नगर में जिला प्रबंधक के पद पर कार्यरत है। थाना बारादरी क्षेत्र के मेगा सिटी अपार्टमेंट मे रहने वाले वीरेंद्र सिंह यादव की ओर से चार मई को बारादरी थाने मे धोखाधड़ी समेत कई धाराओं मे मुकदमा दर्ज कराया गया था। वीरेंद्र का कहना है कि पत्नी स्मिता यादव के नाम से पीसीएफ में परिवहन का ठेका था। पीसीएफ के जिला प्रबंध महेंद्र गर्ग ने अपने कार्यकाल 2023 मे उनसे बेटी की शादी मे दो लाख रुपये उधार लिए थे। जो हरुनगला स्थित न्यू कैलाशपुरम मे रहते हैं। वर्तमान में उनकी पोस्टिंग संतकबीर नगर में जिला प्रबंधक के पद पर है। उन्होंने महेंद्र गर्ग से उधारी के दो लाख रुपये मांग लिए थे। इसी बात से खफा महेंद्र गर्ग ने उनका ठेकेदारी का भुगतान रोक लिया। भुगतान के बदले कमीशन के 2.50 लाख रुपये भी लिए। इसके बावजूद भुगतान नही किया। बल्कि 4.50 लाख रुपये उनका दबाकर बैठ गए। जब रुपये मांगे तो पुलिस के साथ मिलकर एनकाउंटर कराने की धमकी देने लगे। बारादरी पुलिस ने ठेकेदार की तहरीर पर पीसीएफ के जिला प्रबंधक महेंद्र कुमार गर्ग व सतीश यादव के खिलाफ धोखाधड़ी समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। ठेकेदार वीरेंद्र सिंह यादव ने महेंद्र कुमार गर्ग से लेनदेन की बातचीत से जुड़े दो-तीन ऑडियो आदि साक्ष्य विवेचक को दे दिए है। वही बारादरी इंस्पेक्टर अमित पांडे का कहना है कि करीब एक सप्ताह पहले मुकदमा दर्ज हुआ है। मामले की विवेचना कराई जा रही है। विवेचक को पीड़ित ने लेनदेन से जुड़े ऑडियो आदि उपलब्ध करा दिए है।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।