पति ने रुपये चोरी करने के आरोप तो पत्नी ने कर दी हत्या, सीने मे मारी गोली, पत्नी गिरफ्तार

बरेली। जनपद के थाना बारादरी क्षेत्र के सरस्वती विहार मे मंगलवार रात दाई बजे आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने तमंचे से गोली मारकर पति की हत्या कर दी। पति 18 हजार रुपये चोरी करने का आरोप लगाते हुए उससे हिसाब मांग रहा था तभी महिला ने उसे गोली मार दी। पुलिस ने महिला को हिरासत मे लेकर तमंचा बरामद कर लिया है। मृतक के पिता ने बहू और उसके बहनोई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। वही पंचनामा भरकर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। इसके साथ ही पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी हुई है। बुधवार की सुबह पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे थाना भुता क्षेत्र के गांव मिर्जापुर निवासी रामकृष्ण ने बताया कि उनका बेटा नरेंद्र कुमार सिंह (40) कुछ साल से मकान बनवाकर सरस्वती विहार मे रह रहा था। उसकी पत्नी पूनम और दो बेटे भी साथ रहते थे। पूनम गांव मे आंगनबाड़ी कार्यकर्ता है जबकि नरेंद्र एक साड़ी शोरूम पर एकाउंटेंट था। पूनम अपने बहनोई पीलीभीत के ललौरीखेड़ा निवासी ओमप्रकाश के संपर्क मे रहती थी। कार से चलती थी और ओमप्रकाश ने उसे तमंचा भी दे रखा था। उनके बेटे और बहू के बीच रुपये और ओमप्रकाश के दखल को लेकर अक्सर विवाद होता था। मंगलवार की रात नरेंद्र ने उन्हें कॉल कर बताया कि पूनम ने 18 हजार रुपये चोरी कर लिए है। वह रुपये नही दे रही है। बेटे ने यह भी बताया कि पूनम उसे जान से मारने के लिए तमंचा निकाल रही है। इसके बाद कॉल कट गई। दोबारा कॉल की तो रिसीव नही हुई। पड़ोस मे रहने वाले दूसरे बेटे की बहू ने उन्हें कॉल करके बताया कि पूनम ने गोली मारकर नरेंद्र की हत्या कर दी है। वह वहां पहुंचे तो बेटे का शव पड़ा था। पौत्र निशांत (17) ने बताया कि फायरिंग की आवाज सुनकर वह दूसरे कमरे से इधर आया तो देखा कि पिता का शव खून से लथपथ पड़ा था। पास में मां पूनम बैठी थी। उसने बहाना बनाया कि तेरे पिता गिर गए है। उसने आसपास के लोगों को सूचना दी तो पुलिस आई। इंस्पेक्टर बारादरी अमित पांडेय ने बताया कि महिला ने पूछताछ में बताया कि पति तमंचा लेकर उसे डरा रहा था। खुद को बचाने की कोशिश में उससे ट्रिगर दब गया। पूनम व उसके बहनोई पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। तमंचा भी बरामद कर लिया गया है।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।