नवरात्र मे सज गए मंदिर, खरीदारी से बाजारों मे रौनक, दुकानों पर उमड़ी भीड़

बरेली। चैत्र नवरात्र मंगलवार से प्रारंभ हो रहा है। सोमवार को चैत्र नवरात्र की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है। शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि के मुताबिक नौ अप्रैल को मां दुर्गा के प्रथम स्वरूप मां शैलपुत्री की पूजा के साथ चैत्र के नवरात्र प्रारंभ हो गए जो 17 अप्रैल को मां सिद्धिदात्री की पूजा-अर्चना के साथ संपन्न होंगे। कलश स्थापना के लिए प्रतिपदा के दिन स्नान कर पूजा स्थल को शुद्ध कर लें। इसके बाद लकड़ी के एक आसन पर लाल रंग का वस्त्र बिछाएं, वस्त्र पर श्रीगणेश का स्मरण करते हुए थोड़े चावल रखें। मिट्टी की वेदी बनाकर उस पर जौ बो, फिर इस पर जल से भरा मिट्टी, सोने या तांबे का कलश विधिवत स्थापित करे। शहर की पूजा सामग्री की दुकानों पर दिनभर श्रद्धालुओं में खरीदारों की भीड़ उमड़ रही है। नवरात्रि और ईद को लेकर बाजार गुलजार है। कपड़ा और पूजन सामग्री की दुकानों पर ग्राहकों की भीड़ दिखी। ईद पर नए कपड़े पहने जाते है इसलिए कपड़ा बाजार मे ज्यादा रौनक है। कुतुबखाना, बड़ा बाजार, सिविल लाइंस आदि स्थानों पर दुकानों पर लोग खरीदारी करते नजर आए। दुकानदारों के अनुसार कुर्ता पायजामा की मांग अधिक है। वही नवरात्र को लेकर पूजा सामग्री और फलाहार की बिक्री बढ़ गई है। मूर्तियां, चुनरी, शृंगार, हवन सामग्री की खूब बिक्री हुई। हालांकि गत वर्ष की तुलना में हर सामान में 10 से 20 रुपये की बढ़ोतरी होना बताया गया, लेकिन आस्था के आगे महंगाई का असर नहीं दिखा। बाजार में ग्राहकों की भीड़ और नो एंट्री वाले स्थानों मे ई रिक्शों के पहुंचने से जाम के हालत बन गए। लोगों को परेशानी से जूझना पड़ा। कोतवाली के सामने कुतुबखाना पुल के नीचे ई-रिक्शा चालकों की नो एंट्री थी, लेकिन यहां ई रिक्शा चालकों के आने से जाम लग गया। नवरात्र आते ही फल के दामों में भी तेजी दिखने लगी है। फल मंडी में सोमवार को केला 70 से 80 रुपये दर्जन बिका, जबकि कुछ दिन 60 रुपये दर्जन था। अनार 120 से 160 रुपये किलो तक पहुंच गया है। मौसमी 80 से 90, सेब 90 से 120 रुपये किलो बिक रहा है। मेवा में बादाम 700 से 850, काजू 900 से 1200, किसमिस 250 से 400, मुनक्का 650 से 850, मखाना 850 से 1100, साबुदाना 90 से 100 रुपये किलो बिक रहा है। सिंघाड़े का आटा 160 से 180 रुपये किलो बाजार मे है।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।