नगर परिषद में कर्मचारियों ने अपने कार्यालय में ही चलाया साफ़ सफाई अभियान

बाड़मेर/राजस्थान- मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा की सरकारी कार्यालयों के अधिकारियों और कर्मचारियों को अपने अपने विभाग की साफ़ सफाई करने का सख्त निर्देश देते ही जयपुर मुख्यालय से स्वायत शासन विभाग के निर्देशानुसार राजस्थान की सभी नगर पालिका,नगर परिषद के कार्यालय में जोरदार साफ़ सफाई अभियान चलाए गए, दो दिवसीय बाड़मेर नगर परिषद कार्यालय में पिछली सरकार के कार्यकाल का लेखा जोखा कर्मचारियों द्वारा पहली बार इमानदारी से साफ़ सफाई अभियान चलाकर परिषद की सभी शाखाओं में सफाई कार्यक्रम चलाया। कार्यालयों की विभिन्न शाखाओं में बिना काम वाले फरियादियों के कागजों व बिना जरूरत के सामान को साफ़ सफाई के दौरान हटाया गया।

नगर परिषद कार्यालय को अवकाश के दौरान खुल्ला देखकर शहर के जिम्मेदार नागरिकों ने कहा कि बेहद गम्भीर बात है कि नगर परिषद के सभी कर्मचारीयों द्वारा दो दिवसीय विशेष साफ़ सफाई अभियान चलाकर स्वच्छता के प्रति संकल्प लिया गया तो ऐसा ही मिशन शहर की साफ़ सफाई के लिए भी लेना चाहिए ताकि बाड़मेर शहर की स्वच्छता अभियान में रेटिंग अच्छा होगी।

नगर परिषद आयुक्त विजय प्रताप सिंह ने बताया की राज्य सरकार के आदेश अनुसार स्वच्छ सवेक्षण 2024 के तहत परिषद में दो दिन विशेष रूप से साफ़ सफाई अभियान चलाकर कार्यालय में समस्त शाखाओं की सफाई की गई। सफाई से कार्य के प्रति हमारे कर्मचारियों में उत्साह व सक्रियता बढ़ेगी।

नगर परिषद के प्रशासनिक अधिकारी स्वरूप शर्मा ने बताया की पहले जीवन में साफ़ सफाई फिर दूसरा कामकाज इस संकल्प के आधार परिषद में कर्मचारियों ने महा सफाई अभियान चलाया। जिला कलेक्टर अरूण कुमार पुरोहित या फिर अन्य अधिकारियों द्वारा औचक निरीक्षण टीम को भी कार्यालय परिसर में साफ़ सफाई के साथ ही सभी शाखाएं व्यवस्थित नजर आएंगी ।

इस दौरान नगर परिषद में कार्मिक स्वरूप शर्मा, नरेश जैन,चंद्रजीत खत्री,अरुण घारू,सुरेश चौधरी,भूपेश शर्मा,भगवान दास घारू, विशन सिंह,रितेश रंजन, नानुराम,गणपत बेनीवाल, मनोज कुमार,ऊर्जाराम प्रजापत,प्रताप सिंह ,प्रकाश घारू, मूलाराम मूंढ सहित अन्य कर्मचारियों ने अपनी अपनी शाखा की साफ़ सफाई की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।