दुष्कर्म का मुकदमा लिखने से परहेज कर रही है जौनपुर पुलिस

जौनपुर- प्रदेश सरकार जहां एक तरफ महिलाओं की सुरक्षा के लिए तरह तरह के कानून व टीम गठित करके महिलाओं के ऊपर हो रहे अपराध पर अंकुश लगाने के प्रयास कर रही है।
वही केराकत कोतवाली की पुलिस सरकार के मंसूबों पर पानी फेरती नजर आ रहा है।
कोतवाली क्षेत्र में महिलाओं के ऊपर हो रहे घटनाओं के बाद कोतवाली पुलिस अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई करने की जगह उन्हें बचाने में जुट जा रही है। आपको बता दें कोतवाली क्षेत्र में एक सप्ताह के अंदर अलग-अलग गांवों में दो नाबालिग लड़कीयो के साथ दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। पहला मामला 17 मई की रात नौ बजे की है 13 वर्षीय नाबालिग लड़की घर से कुछ दूर किराने की दुकान पर सामान लेने गई थी दुकान बंद होने के कारण वह घर वापस आ रही थी कि उसी गांव निवासी दो युवकों ने उसका मुंह दाब कर उसे कुछ दूर शौचालय में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और बेहोशी की हालत में छोड़कर फरार हो गये। परिजनो के शिकायत के बाद
पुलिस द्वारा पहले पीड़ित के परिजनों के ऊपर सुलह समझौता का दबाव बनाया गया बात न बनने पर आरोपियों के विरुद्ध 20 मई को मुकदमा दर्ज किया गया।

दूसरा मामला 23 मई की है कक्षा 7 में पढ़ने वाली 14 वर्षीय नाबालिग छात्रा के साथ विद्यालय के गाड़ी चलाने वाले ड्राइवर ने रात को उसको उसके घर से बहला फुसलाकर ले गया तथा उसी के गांव के प्राथमिक विद्यालय में उसके साथ दुष्कर्म किया और वह बेहोशी की हालत में छोड़कर फरार हो गया होश आने के बाद पीड़ित ने अपनी आपबीती परिजनों को बताई तो परिजनों ने पहले पुलिस चौकी पर शिकायत की शिकायत के बाद पुलिस पीड़ित के परिवार के ऊपर सुलह-समझौता का दबाव बनाने लगी थक हार कर परिजनो ने 25 मई को स्थानीय कोतवाली पर न्याय की गुहार लगाई मामले को बढ़ता देख कोतवाल साहब ने आरोपीयो के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर जल्द पकड़ने का दावा कर रहे हैं। पुलिस की कार्यशैली को लेकर क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार गर्म है।
– जौनपुर से आनन्द यादव की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।