टिकट बंटवारे पर बरसे मौलाना शहाबुद्दीन रजवी, बोले- मुसलमानों की अनदेखी बर्दाश्त नही

बरेली। ऑल इंडिया मुस्लिम जमात के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना मुफ्ती शहाबुद्दीन रजवी बरेलवी ने कहा कि मुसलमानों के कंधों पर सवार होकर वोट बैंक की राजनीति करने वाले राजनीतिक दल मुसलमानों को उनकी आबादी के हिसाब से लोकसभा मे प्रत्याशी के तौर पर टिकट दें। उन्होंने कहा कि अगर अनदेखी की तो मुसलमान बर्दाश्त नही करेगा। अब मुसलमान सियासी और समाजी तौर पर जागरूक हो गया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अक्सर ये देखा गया है कि जिनकी आबादी छह फीसदी है। समाजवादी पार्टी उस बिरादरी से संबंध रखने वाले लोगों को सबसे ज्यादा टिकट देती है। दूसरी तरफ सबसे बड़ी आबादी जिसका वोट प्रतिशत 22 फीसद है, उसको सपा सबसे कम टिकट देती है, मगर अब हम ऐसा नही होने देंगे। मौलाना ने कहा कि सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव इन बातों का ध्यान रखते थे। हर आबादी के हिसाब से विधानसभा और लोकसभा में टिकटों का वितरण करते थे। मगर जब से सपा का नेतृत्व अखिलेश यादव करने लगे तब से सपा ने अपनी सोच में काफी हद तक बदलाव पैदा किया है। अखिलेश यादव नरम हिंदुत्व की लाइन पकड़ कर चल रहे है। शहाबुद्दीन रजवी ने आगे कहा कि सपा ने मुसलमानों को सिर्फ एक वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल किया। मुसलमानों के लिए बुनियादी तौर पर कोई काम नहीं किया। जब अखिलेश यादव को मुसलमानों ने मुख्यमंत्री बनाया। अखिलेश ने अपने दौरे में मुसलमानों की तरफ से मुंह फेर लिया। बहुत सारे मुद्दे ऐसे है जिसमें अखिलेश यादव ने मुस्लिम नौजवानों को नजरअंदाज किया है।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।