जेपी नड्डा की पत्नी की फारच्यूर्नर कार चोरी करने वाले सरगना समेत दिल्ली मे पकड़े गए दो चोर

* बरेली से भी चोरी की तीन कारें

बरेली। जनपद के थाना बारादरी क्षेत्र में 29 फरवरी की रात मे तीन कार चोरी करने वाले दिल्ली के गिरोह ने ही भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की पत्नी की दिल्ली से कार चोरी की थी। गिरोह के सरगना शाहिद मोटा के दामाद फारुख को बारादरी पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा तो दिल्ली पुलिस ने भी संज्ञान ले लिया। दिल्ली पुलिस ने गिरोह के सरगना शाहिद मोटा व शिवांश त्रिपाठी को गिरफ्तार कर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की पत्नी की फारच्यूर्नर कार बरामद कर ली। एक और आरोपित को बारादरी पुलिस ने हिरासत मे लिया है। उससे चोरी हुई तीनों कारों के बारे मे जानकारी जुटाई जा रही है। आपको बता दे कि थाना बारादरी क्षेत्र मे 29 फरवरी की रात दो क्रेटा चोरी करने के बाद आरोपितों ने फारच्यूर्नर चोरी की। जांच में साफ हुआ कि गिरोह के आरोपित कार से ही आए थे। कार नंबर ट्रेस हुआ। उसी नंबर के आधार पर जांच आगे बढ़ी। सटीक सूचना के बाद तीन अप्रैल को बारादरी पुलिस ने दिल्ली के पोटला छतरपुर निवासी फारुख को पकड़ा। पूछताछ मे उसने बताया कि ससुर शाहिद मोटा गिराेह का सरगना है। इसके अलावा नेक मोहम्मद, सैकुल अहमद खान, शिवांशु त्रिपाठी, सना व रजत वर्मा गिरोह के सक्रिय सदस्य है। कार चोरी के बाद उनके फर्जी प्रपत्र तैयार कर बिक्री कर दी जाती थी। बरामद क्रेटा कार मे भी आरोपित ने फर्जी नंबर प्लेट लगा रही थी। चेचिस नंबर से पता चला कि संबंधित कार गाजियाबाद से चोरी की गई थी जो रजत वर्मा के नाम पंजीकृत है। गिरोह मे फारुख की पत्नी सना भी शामिल है जो सारा हिसाब-किताब रखती है। इस बीच दिल्ली पुलिस भी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कार चोरी को लेकर गिरोह तक पहुंची। पता चला कि आरोपित कार को नागालैंड ले जाने की तैयारी मे थे। इससे पहले सरगना समेत दो को गिरफ्तार कर गाड़ी बरामद कर ली गई। सीओ तृतीय बरेली अनीता चौहान ने बताया कि इतना ही नही आरटीओ कार्यालय मे आरोपितों का एक ऐसा नेटवर्क है जो चोरी कर खरीद-फरोख्त की गई गाड़ियों को नंबर एक में पंजीकृत करा देते हैं। चेकिंग के दौरान गाड़ी नंबर से जब पुलिस सर्च करती है तो उसी के नाम गाड़ी दिखती है जिससे फंसने का डर नही रहता है।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।