जिलाधिकारी ने  3200 रुपये का चेक देकर पीड़िता को दी आर्थिक सहायता

अमेठी – जिलाधिकारी श्रीमती शकुंतला गौतम की अध्यक्षता में आज तहसील अमेठी में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। जिसमें पुलिस अधीक्षक, जिला विकास अधिकारी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, उपजिलाधिकारी अमेठी, प्रभागीय वनाधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी तथा समस्त जिलास्तरीय एवं तहसील स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

जिलाधिकारी महोदया द्वारा सर्वप्रथम तहसील दिवस में लम्बित प्रकरणों का निरीक्षण किया गया। तहसील अमेठी के समय के उपरानत लम्बित प्रकरण के सम्बन्ध में सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि लम्बित प्रकरणों का निस्तारण 03 दिवसों के भीतर करया जाना सुनिश्चित करेगें।

तहसील दिवस में प्राप्त प्रार्थना पत्रों का संज्ञान लेकर जिलाधिकारी महोदया द्वारा प्राप्त प्रकरणों का समयावधि के अन्तर्गत निस्तारण किये जाने के निर्देश दिये गये। तहसील दिवस में अधिकांश शिकायतें विद्युत, हैण्डपम्प, ज़मीन विवाद, दाखिल खारिज, खतौनी, अवैध अतिक्रमण, रोड निर्माण व वरासत आदि से सम्बन्धित प्राप्त हुई। जिनका 13 अधिकारियों की गठित रैपिड रिस्पाॅन्स टीमों को क्षेत्र में भेज कर प्रकरणों का मौके पर निस्तारण कराया गया।

तहसील दिवस में प्राप्त एवं मौके पर निस्तरित शिकायतों का आंकडा निम्नवत् हैः-

तहसील अमेठी – कुल प्राप्त 223 – कुल मौके पर निस्तारित 13

तहसील मुसाफिरखाना – कुल प्राप्त 43- कुल मौके पर निस्तारित 03

तहसील तिलोई – कुल प्राप्त 36- मौके पर निस्तारित 06

तहसील गौरीगंज – कुल प्राप्त 78 कुल मौके पर निस्तारित 07.

जिलाधिकारी महोदया द्वारा उपस्थित सभी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि तहसील दिवसों में प्राप्त शिकायतों का शत् प्रतिशत निस्तारण सम्बन्धित जिला स्तरीय एवं तहसील स्तरीय अधिकारी तहसील दिवस के उपरान्त तहसील में रूक कर करेंगें।

जिलाधिकारी महोदया द्वारा निर्देशित किया गया कि प्रत्येक तहसील दिवस में कम से कम 10 आवेदन पत्रों का निस्तरण रेपिड एक्शन टीम द्वारा किया जाएगा जिसमें उपस्थित अधिकारी, राजस्व कर्मी व पुलिस बल के अधिकारी/कर्मचारीगण रहेगें।

जिलाधिकारी महोदया द्वारा उपस्थित सभी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि तहसील दिवस में प्राप्त प्रकरणों को प्रथमतः उसी दिन निस्तारण किया जाए तथा जो जटिल प्रकरण हैं, जिनका निस्तारण उसी दिन सम्भवन नहीं है उसे एक सप्ताह में कर दिया जाए।

सम्पूर्ण समाधान दिवस के दौरान जिलाधिकारी ने रामावती पत्नी शंकर को रू०-3200/ का चेक देकर पीड़िता को आर्थिक सहायता दिया।

मुसाफिरखाना तहसील में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता उप जिलाधिकारी अभय कुमार पांडे ने की और तहसीलदार महात्मा सिंह के साथ तहसील स्तर के सभी विभागों के संबंधित अधिकारी मौजूद रहे संपूर्ण समाधान दिवस में कुल 45 शिकायतें आई जिसमें से 3 का निपटारा मौके पर कर दिया गया समस्याओं के निस्तारण के लिए 6 टीमों की रवानगी की गई।

समस्त अधिकारियों को प्रातः 09-11 बजे अपने कार्यालय में उपस्थित रह कर जन सुनवाई करने तथा जन समस्या का यथोचित निस्तारण करने के निर्देश दिये गये।

-सन्त प्रसाद मौर्य अमेठी की रिपोर्ट*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।