जिलाधिकारी ने की विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा

चन्दौली-जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने सोमवार को सभागार में विभागवार अधिकारियों से परिचय प्राप्त कर
विभागों द्वारा कराये जा रहे विकास कार्यो की जानकारी ली। इस दौरान उन्होनें अधिकारियों से
कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता शिक्षा व सरकार द्वारा चलायी जा रही
महत्वाकाक्षी योजनाओं को जनता के बीच पात्र व्यक्तियों तक शत प्रतिशत पहुचाना है । इस दौरान अधिकारियों को करते हुवे कहा कि सरकार के मंशा के अनुरूप कार्य करे कहा कि निति आयोग ने देश के 115 जनपद को विकास कार्यो में पिछडा घोषित किया है जिसमें उत्तर प्रदेश के 08 जनपद में से जनपद चन्दौली भी सम्मिलित है। पिछडे़ जिलों को बेहतर बनाने के लिए जनता के हितों को ध्यान में रखा कर कार्य किया जाय। अधिकारियों को आदेशित कर कहा कि हर जनपद से अलग कार्य योजना बनाये कोई कठिनाइयाॅ हो तो अवगत कराये ताकि उसका समाधान किया जा सके। हमारा पहला उद्देश्य है कि सरकार द्वारा जिस जिले की कमान सौपी गयी है।
उन जनपद में विकास कार्य को लेकर कोई खामिया ना आये कार्यो में शिथिलता बर्दास्त नही होगी, ।कहा कि प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास विभाग
अनुराग श्रीवास्तव द्वारा सप्ताह के सोमवार के दिन वीडियों कान्फेन्स के माध्यम से जनपद के विकास कार्यो का जायजा लिया जायेगी। उससे पूर्व कलेक्ट्रट सभागार में विभागवार समिक्षा भी की जायेगी। कहा कि जिस विभाग द्वारा लापरवाही मिली तो वेतन रोकना पड़ेगा। डीएम ने अधिकारियों को आईजीआरएस आन लाईन पोर्टल पर आये शिकायत को गुणवत्ता परक समयावधि में पूर्ण करने के निर्देश दिये कहा कि शिकायत कर्ता को निस्तारण करने से पहले उनके मोबाइल फोन से बात कर समस्या से अवगत होने के पश्चात निस्तारित किया जाय।
निर्देश दिया कि कृषि विभाग में तीन दिवसीय मेला का आयोजन किया जाना है सभी अधिकारी अपने स्टाल पर स्वंय रहकर या योजनाओं की सही जानकारी देने।
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी डा अभय कुमार श्रीवास्तव, अपर पुलिस
अधीक्षक देवेन्द्र नाथ, परियोजना निदेशक ऋषिमुनी उपाध्याय, परियोजना निदेशक पद्मकान्त शुक्ला, अपर जिलाधिकारी (वि0रा0) बच्चा लाल, अपर
जिलाधिकारी न्यायिक विजय शंकर दुबे, मुख्य चिकित्साधिकारी पीके मिश्रा,
उप निदेशक कृषि आरके सिंह सहित जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

-सुनील विश्राम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।