चरस की तस्करी करते साथ एक नेपाली गिरफ्तार

लखीमपुर खीरी- नेपाल सीमा पर थमने का नाम नहीं ले रही मादक पदार्थों की तस्करी यहां तैनात एस एस बी डांग स्कवैट के सहयोग से सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने एक नेपाली तस्कर से एक किलो नौ सौ ग्राम चरस बरामद करने में सफलता हासिल की।भारत नेपाल सीमा की गौरीफंटा चेकपोस्ट पर तैनात सशस्त्र सीमा बल के डांग स्क्वैट के कुत्तों ने बनिगंवा के जंगल से आते हुये जब नेपाली तस्कर को सूंघा तो उन्होंने भौंकर उसके पास कोई अवैध नशीला पदार्थ होने का इशारा दिया इस पर एस एस बी जवानों ने उसकी तलाशी ली। जिसके उपरांत उसके पास 1.900 किलो ग्राम चरस बरामद हुई।यह जानकारी देते हुए एस एस बी 39 वी वाहिनी के कमाण्डेंट राजीव अहलूवालिया ने बताया कि पकड़ा गया तस्कर हिकमत राज मिश्रा पुत्र अंशू मिश्रा निवासी बजांग काफी शातिर अपराधी है जो इस चरस को बनबसा पहुंचाने की फिराक में था किन्तु डांग स्क्वैट के कुत्तों हंटर एवं सिल्की की मदद से हेड कांस्टेबल पवन सिंह (डांग टीम इंचार्ज) कांस्टेबल पिन्टू यादव (डांग हेन्डलर) आदि ने उन्हें धरदबोचा। एस एस बी निरीक्षक संजीव कुमार गुप्ता ने डांग टीम की महती भूमिका की प्रसंशा की।उल्लेखनीय है कि इस से पहले भी नेपाल सीमा पर कई बार बड़ी मात्रा में चरस की बरामदगी एस एस बी द्वारा की जा चुकी है। करीब दो सप्ताह पहले पड़ोसी ग्राम बनकटी के दो थारू युवकों को धनगढ़ी नेपाल में तीस ग्राम ब्राउन शुगर के साथ पकड़ा जाना भी यही दर्शाता है कि सीमा पर अवैध नशीला पदार्थों की तस्करी थमने का नाम नहीं ले रही है।चरस तस्कर को पकड़ने में हंटर और सिल्की ने निभाई अहम भूमिका।अपने जबरदस्त सुनने की क्षमता के बदौलत मादक पदार्थों की पहचान करने में महारत हासिल हंटर और सिल्की ने आज फिर अपना कारनामा कर गौरव हासिल किया। उन्होंने अवैध चरस के साथ नेपाल से आ रहे एक तस्कर को पकड़ने में अहम भूमिका अदा की। डांग टीम में शामिल हंटर (मेल डांग) सिल्की (असिस्टेंट कमांडेंट) को लेकर टीम इंचार्ज पवन सिंह आदि नेपाल सीमा पर जब सर्च कर रहे थे तब हंटर और सिल्की की नजर पिलर संख्या १७० के निकट आ रहे एक व्यक्ति पर पड़ी। पड़ोस आते ही उसने उसे सुंघा और भौंकना शुरू कर दिया। इस पर साथ चल रहे मुख्य आरक्षी को शक हुआ और उसने सहायक को उसकी तलाशी लेने को कहा।

लखीमपुर खीरी से अनुराग पटेल की रिपोर्ट…..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।