गौवंश के अधिक उपयोग से अन्ना प्रथा होगी समाप्त: राजीव गुप्ता

झाँसी- विकास भवन में राजीव गुप्ता सेवानिवृत्त आईएएस / गौसेवा आयोग अध्यक्ष की अध्यक्षता में एक बैठक हुई। इसमें गौ संरक्षण तथा गौ संवर्धन के लिए चर्चा हुई। बैठक में राजीव गुप्ता ने कहा कि गौवंश के अधिकतम उपयोग से अन्ना प्रथा की समस्या को जड़ से समाप्त किया जा सकता है। इसके लिए गौशालाएं जिला प्रशासन, जन प्रतिनिधि मिलकर कार्य करें।

बैलों के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए भी उन्होंने निर्देश दिए। बैल चलित वाटर पंप, कोल्हू, जनरेटर एवं आटा चक्कियों के लिए पशु पालकों को अनुदान दिए जाने को कहा। कम्पोस्ट एवं जैविक खाद के उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से राजकीय विभाग तथा कृषि उद्यान एवं वन विभाग, गौशाला को विभागीय प्रयोग के लिए कम्पोस्ट खरीदें। बायोगैस संयत्र लगाकर गोबर के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए भी चर्चा की गई। नगर आयुक्त ने बताया कि कांजी हाउस का निर्माण लगभग पूरा हो गया है और एक सप्ताह में यह कार्य प्रारंभ कर देगा। डीआईजी ने अवगत कराया कि गौ तस्करी रोकने के लिए एसपी देहात को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। जिनकी निगरानी में नियंत्रातमक कार्रवाई की जा रही है। बैठक में अपर निदेशक पशुपालन डॉ. रामाशीष सिंह, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. योगेंद्र सिंह तोमर आदि उपस्थित रहे।
-उदय नारायण, झांसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।