गाजीपुर के सहकारी बैंक के पूर्व चेयरमैन की सपा में जाने की उड़ी अफवाह

गाजीपुर। जिला सहकारी बैंक के पूर्व चेयरमैन और गाजीपुर के कद्दावर नेता अरुण सिंह की सपा में कोई दिलचस्पी नहीं है। नैनी जेल में निरुद्ध अरुण सिंह से सपा के नेताओं की मुलाकात की सोशल मीडिया में चल रही खबर से उनके समर्थक, परिवारीजन हैरान हैं। बेहद करीबी माने जाने वाले प्रवीण सिंह नैनी जेल पहुंच कर अरुण सिंह से मिले। उसके बाद बताए कि सोशल मीडिया में चल रही खबर की चर्चा पर अरुण सिंह ने साफ कहा कि ऐसा कुछ नहीं है। जेल में उनसे सपा का न कोई नेता मिलने आया और न उनकी खुद की सपा में कोई दिलचस्पी ही है। बल्कि अरुण सिंह यह जरूर कहे कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनापेक्षाओं के अनुरूप काम कर रहे हैं और निश्चित रूप से योगी की अगुवाई में उत्तर प्रदेश बहुत आगे जाएगा। मालूम हो कि अरुण सिंह गाजीपुर के लिए कभी भाजपा के बड़े चेहरे में शुमार रहे लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने पर वह बगावत कर गए थे। उसके बाद जनवरी 2016 में करंडा की तत्कालीन ब्लाक प्रमुख रजावती देवी के पति अमरनाथ यादव की हत्या में गिरफ्तार किए गए। उसके बाद से ही वह न्यायिक हिरासत में हैं। उनके समर्थकों का साफ कहना है कि उस हत्या में राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया गया। पुलिस फाइल में अमरनाथ यादव हेरोइन के कुख्यात तस्कर के रूप में दर्ज थे। उस कारोबार से जुड़े दूसरे लोगों से उनकी पुरानी अदावत थी। समर्थकों को पूरी उम्मीद है कि कोर्ट अरुण सिंह के साथ पूरा इंसाफ करेगा और जेल से निकलने के बाद वह एक बार फिर अपने पुराने राजनीतिक तेवर में जनता के बीच आएंगे।
रिपोर्ट-:प्रदीप दुबे गाजीपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।