गाजीपुर के लाल का पार्थिव शरीर घर पहुंचते ही दौड़ी शोक की लहर

ग़ाज़ीपुर- दंतेवाड़ा में नक्सली हमले में शहीद हुये गाजीपुर के लाल अर्जुन राजभर का पार्थिव शरीर आज़ गांव पहुचा और पहुचते ही शोक की लहर व्याप्त है।छत्तीसगढ़ सशस्र बल की 16वीं बटालियन में आरक्षक पद पर तैनात अर्जुन राजभर 20 मई को दंतेवाड़ा में नक्सली हमले में शहीद हो गये।जिसकी खबर उनके पैतृक गांव शादियाबाद के बरईपारा पहुंचते ही गांव में गम का माहौल बन गया।

गाजीपुर के शादियाबाद क्षेत्र के बरईपारा गांव में रहने वाले बलिराम राजभर और रमावती की पांच पुत्रों में चौथे नंबर पर अर्जुन राजभर वर्ष 2014 में छत्तीसगढ़ सशस्र बल में बतौर आरक्षक नियुक्त हुये थे।इन दिनों अर्जुन दंतेवाड़ा में तैनात थे।जहां नक्सली हमले में वे शहीद हो गये।अर्जुन के सभी भाई मुंबई में फूलों का व्यवसाय करते हैं।जबकि पत्नी और तीन बच्चों के साथ अर्जुन छत्तीसगढ़ में रह रहे थे।
– गाजीपुर से प्रदीप दुबे की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।