कावड़ लेने के लिए सैकड़ों की संख्या में शिव भक्त ओम घाट के लिए रवाना

*हसवा कस्बे के कई वर्षों से ओम घाट के लिए जाते हैं..शिवभक्त

फतेहपुर – जिले के सदर तहसील क्षेत्र के हसवा. विकास खंड के हसवा कस्बे में पहले से ही निश्चित दिन और तय समय के अनुसार कस्बा सहित आसपास के कई गांव के सैकड़ों की संख्या में कावड़ लेने वाले शिव भक्त कस्बा के ट्रांसफार्मर चौराहा के पास इकट्ठा हुए और शिव भक्तों की रवानगी तथा शिव भक्तों के सम्मान के लिए ग्रामीणों की टोली ने पहले से ही कई व्यवस्था कर रखी थी शिव भक्तों के ट्रांसफार्मर चौराहा के पास इकट्ठा होते ही डीजे और गाजे-बाजे भी ट्रांसफॉर्मा चौराहा के पास बजे लगे 2 दर्जन से भी अधिक ग्रामीणों की टोली ने सभी शिव भक्तों को तिलक लगाया सभी शिव भक्तों का मुंह मीठा कराया और पुष्प वर्षा की इसके बाद भगवान शंकर के जयकारे लगाते हुए और जय महाकाल बम भोले की आवाज लगाते हुए शिव भक्तों को विदा किया वही शिव भक्त डीजे और गाजे-बाजे की धुन में नाचते गाते हुए और जयकारे लगाते हुए बम भोले बम भोले कहते हुए धीरे-धीरे आगे बढ़ने लगी उनके साथ सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण भी साथ साथ चल रहे थे और वह भी डीजे और गाजे बाजे की धुन में नाच रहे थे शिवभक्त तथा ग्रामीण ट्रांसफार्मर चौराहा से लेकर हसवा मोड़ तक नाचते गाते हुए पहुंचे इससे पहले रास्ते में ग्रामीणों ने जगह-जगह रुककर पुष्प वर्षा की ओर मुंह भी मीठा कराया मॉल से हाईवे पहुंचते ही बहुत-बहुत से ग्रामीण वापस आ गए और शिव भक्तों का जत्था कावड़ लेने के लिए पैदल ही ओम घाट के लिए भगवान शंकर के जयकारे लगाते हुए निकल पड़ा

कई ग्रामीण और शिव भक्तों ने बताया कि शाम तक सभी भक्त ओम घाट पहुंच जाएंगे स्नान करने के बाद वही शाम को विश्राम करेंगे और प्रत्येक वर्ष की तरह ग्रामीणों की एक टोली देर शाम भोजन लेकर ओम घाट पहुंचेगी सभी शिव भक्तों भोजन करेंगे थोड़ा विश्राम करेंगे और रात्रि 12:00 बजे के बाद स्नान करने के बाद जल लेकर ओम घाट में शिव दर्शन करने के बाद तांबेश्वर मंदिर के लिए पैदल ही प्रस्थान करेंगे तांबेश्वर मंदिर पहुंचकर पूजा अर्चना और जलाभिषेक करने के बाद अपने अपने घरों के लिए प्रस्थान करेंगे कई ग्रामीणों ने बताया कि कई वर्षों से कस्बा के शिव भक्तों सहित आसपास के कई गांव के शिव भक्त कावड़ लेने के लिए जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।