कमिश्नर व आईजी बोले- नॉवल्टी चौराहे पर अतिक्रमण हटाकर सड़क का करे चौड़ीकरण, मिलेगी जाम से निजात

बरेली। जनपद के थाना कोतवाली क्षेत्र में नॉवल्टी चौराहे पर जाम से राहत दिलाने के लिए 110 करोड़ की लागत से बने महादेव ओवरब्रिज को शहर की लाइफ लाइन साबित होने का दावा किया जा रहा था। लेकिन उसका उल्टा हुआ और महादेव पुल भी लोगों को जाम से निजात नही दिला सका। कुतुबखाना इलाका कई सालों से जाम की स्थिति से जूझ रहा है। यहां सबसे बड़ी दिक्कत जिला अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों की एंबुलेंस भी जाम का शिकार हो जाती थी। वही इस इलाके को जाम से निजात दिलाने के बाद पिछले एक साल से अधिक समय से बन रहे ओवरब्रिज का विगत 13 मार्च को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोकार्पण किया था। इस बीच ओवरब्रिज के लोकार्पण तक तमाम जनप्रतिनिधि इसका श्रेय लेने के लिए अपने बैनर-पोस्टर लगवाते रहे। वही ओवरब्रिज के लोकार्पण के बाद से कुतुबखाना बाजार को तो जाम से राहत मिल गई लेकिन पुल के दोनों सिरों पर जाम लगना शुरू हो गया। जिसकी खबरें पिछले कई दिनों से लगातार सुर्खियों में बनी हुई है। मंगलवार को कमिश्नर सौम्या अग्रवाल, आईजी डॉ राकेश सिंह, एसपी ट्रैफिक शिवराज, एसपी क्राइम राहुल भाटी और नगर आयुक्त निधि गुप्ता वत्स समेत अन्य अधिकारियों की टीम नॉवल्टी चौराहा पहुंची और स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान कमिश्नर सौम्या अग्रवाल ने बताया नावल्टी चौराहा से लेकर महादेव ओवरब्रिज तक जायजा लिया है। जिसमें सड़क को चौड़ा करने का विचार किया जा रहा है। इसके साथ ही मौके से अतिक्रमण को हटवाया जाएगा। वही फुटपाथ पर लगी स्ट्रीट लाइट और बिजली के पोल को भी हटाया जाएगा। कमिश्नर ने कहा कि नॉवल्टी चौराहा पर जल्द ही कार्य शुरू कर जनता को जाम से निजात दिलाई जाएगी।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।