उर्स के समापन पर बाबा कलीम उल्लाह शाह के कुल में उमड़े जायरीन

शाहजहांपुर। हजरत बाबा कलीम उल्ला शाह रहमतुल्लाह अलैह के 35वें सालाना उर्स के कुल की महफिल मे अकीदतमंदों का सैलाब उमड़ पड़ा। उलेमा ने मुसलमानों से इस्लामी तालीमात के मुताबिक नेक अमल करने और सच्चाई के रास्ते पर चलने की ताकीद की। महफिल मे मुल्क की तरक्की और खुशहाली के लिये दुआ की गयी। निसरजई जलालनगर मे तीन दिवसीय उर्स मे शनिवार की सुबह नौ बजे कुल का आगाज हाफिज इनाम उल्ला ने तिलावते कुरआने पाक से किया। सज्जादानशीन हाजी पीर जाकिर अली मियां चिश्ती निजामी की सरपरस्ती मे उर्स-कुल में आये अकीदतमंदों को शहर पेश इमाम मौलाना हुजूर अहमद मंजरी ने खिताब किया। उन्होंने कहा कि मुसलमान अल्लाह के हुक्म और रसूल की सुन्नतों पर अमल करते हुए मिसाली जिन्दगी गुजारे। महफिल मे कारी अली अहमद, अनीस रजा अतहर, राशिद हुसैन राही, रेहान कादरी, तौसीफ रजा, अरशद कादरी, अब्दुल मतीन, रियाज कादरी, हाफिज मंसूर रजा, निसार अहमद, चमन खां, माशूक अली, अब्दुल कादिर, वसीम निजामी, मोहम्मद शान, यूसुफ अली, यासीन खां, फैजान रजा, अब्दुल सत्तार, अनस इकबाल आदि ने नात व मनकबत पेश की। शहर इमाम मंजरी ने मुल्क में अम्नो अमान और खुशहाली की दुआ की। इसके बाद महफिले रंगो समा में मशहूर कव्वाल फैजान रजा अजमेरी एटा, मासूम हसन साबरी, शादाब कव्वाल आदि ने सूफियाना कलाम से जायरीन को मंत्रमुग्ध किया। संचालन मौलाना अनीस रजा अतहर ने किया। कुल की महफिल में हाजी इसरार अहमद, मुफ्ती साजिद खां, हाफिज अनीस अत्तारी, अजमल निजामी, जुनैद निजामी, उवैस निजामी, जक्कू मियां, आफताब, अब्दुल वाजिद, तसव्वर अली, हनीफ आदि समेत सैकड़ों अकीदतमंद मौजूद रहे।।

बरेली से कपिल यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।