उत्तराखंड में भू माफिया अब पहाडाें में पसार रहें है पाँव! धड़ल्ले से बिक रही जमीनें

उत्तराखंड/पौड़ी गढ़वाल- उत्तराखंड जनपद पाैडी गढ़वाल में अब भू माफिया सक्रिय हाे चुकें है ।पहाड़ के हर हिस्से में जमीन खरीदने वाले उपलब्ध है इन सब जगहों पर हाेटल व अन्य माल टाईप के बन रहें है। बंजर भूमि हाेने के कारण भू माफिया स्थानीय लोगों से स्थानीय लाेगाें द्वारा आैने पाैने दाम पर जमीन का साैदा बाहरी लाेगाें से करवा रहे हैं । दुगगडा बजार से ताडकेश्वर महादेव मंदिर तक आैर उससे आगे भी कई बडे बडे हाेटल निर्माण हाे चुके हैं व हाे रहे है इन सब हाेटलाें में बहुत कम न के बराबर हैं पहाड़ियों के। जाे हैं भी वाे धन अभाव में आगे नही बढ पा रहे हैं। हम ही हाेटल वालाें काे भूमि बेच रहे हैं आैर हमारा बच्चा वहां बर्तन मांज रहा है क्या हमारा बच्चा नही बना सकता हाेटल माल ‘ बना सकता है हमारा पहाडी भी बहुत कुछ कर सकता है परंतु सरकार करने नही देती क्याें सरकारी सिस्टम कहता है कि बहुत याेजनायें है पहाडियाें काे पहाड़ में बसाने की ।मुख्यमंत्री कहते हैं “घाैर आवा अपडा गाैं का वास्ता कुछ करा ” अरै हम ताे तैयार हैं परंतु सिस्टम हमें वहां पर कुछ करने नही देता। याेजनायें कागज तक या फिर नेताओं के चमचाें के लिए है। किसी आम आदमी के लिए नही आम जनता ताे अखबार आैर टीबी से ही चुप हो जाता है अब चुप मत रहाे जागाें ये हमकाे मूर्ख बना रहे हैं हम बनते जा रहे हैं सत्रह साल से गैरसैण राजधानी मांग रहे राेजगार मांग रहे हैं शिक्षा चिकित्सा सभी चीज मांग ही रहे हैं मिला। गांव पे गांव खाली
हाे रहे हैं व युवा विहीन हाे रहे पहाड हमारे कुछ साथी पहाड काे दुबारा आबाद करने की मुहिम चला रहे हैं युवाओं को स्वरोजगार से जाेडने के लिए प्रेरित कर रहे हैं व उनके साथ खुद भी कार्य कर रहे हैं । युवाओं को स्वरोजगार योजनाओं का लाभ नही मिल पा रहा है जिससे जाे गाँव वापसी कर रहे हैं फिर मायूस हाेकर वापस मैदानी क्षेत्रों में जा रहे हैं।
रिपोर्ट-इन्द्रजीत सिंह असवाल, पौड़ी गढ़वाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।