आंगनबाड़ी केंद्रों में लोगों को कुपोषण के प्रति किया जागरूक:
पोषण माह में महिला, किशोरी और बाल स्वास्थ्य व शिक्षा पर जोर

कुपोषण पर चौतरफा प्रहार की तैयारी, पोषण पंचायतें शुरू
राष्ट्रीय पोषण माह
हमीरपुर- कुपोषण पर चौतरफा प्रहार करने के उद्देश्य से जनपद में 10 सितंबर तक पोषण पंचायतें होंगी। गुरुवार को जनपद के सभी आंगनबाड़ी कंद्रों में पोषण पंचायतों का आयोजन किया गया। जिसमें बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार के साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने प्रतिभाग किया। आम लोगों को कुपोषण के प्रति जागरूक करते हुए विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी दी गई।
जिला कार्यक्रम अधिकारी शैलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि गुरुवार से सभी आंगनबाड़ी केंद्रों में पोषण पंचायत की शुरुआत हो गई है। जहां लोगों को पोषण के प्रति जागरूक किया जाएगा। ग्राम सभा की किसी एक महिला सदस्य की अध्यक्षता में पोषण पंचायत का गठन किया जाएगा। पोषण पंचायत के सदस्य के रूप में 10-15 महिलाओं को नामित किया जाएगा। यह महिलाएं आईसीडीएस विभाग की लाभार्थी महिलाएं अथवा आंगनबाड़ी केन्द्र के लाभार्थियों की अभिभावक हो सकती हैं।
जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि नवजात शिशुओं के साप्ताहिक वजन और उनके घर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा बहू द्वारा किए गए भ्रमण की स्थिति का आंकलन किया जाएगा। जन्म के समय कम वजन और पांच वर्ष से कम उम्र के कुपोषित बच्चों की संख्या उसके कारणों, पोषण व्यवहार में कमी, सेवाओं की पहुंच तथा उपलब्धता पर भी चर्चा होगी।

चार बेसिक थीम पर रहेगा फोकस
राष्ट्र्ीय पोषण मिशन के जिला समन्वयक आशीष कुमार ने बताया कि पूरे माह चार बेसिक थीम – महिला एवं स्वास्थ्य, बच्चा शिक्षा-पोषण भी पढ़ाई भी, लैंगिंक संवेदनशीलता, जल संरक्षण व प्रबंधन के क्षेत्र में महिलाओं व बच्चों के लिए पारंपरिक खानपान आदि पर काम किया जाएगा। पोषण पंचायत की सदस्यों द्वारा कम वजन के शिशु, अति कुपोषित, कुपोषित और गंभीर रूप से कम वजन वाले बच्चों के पोषण श्रेणी के स्तर में बदलाव की जानकारी ली जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

किसी भी समाचार से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है।समाचार का पूर्ण उत्तरदायित्व लेखक का ही होगा। विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र बरेली होगा।